Top 10 Ram Bhajan, Video, Lyrics

सभी राम भक्त जानते है की श्री राम प्रभु के भजनो में एक अलग ही अहसास होता है, एक अलग ही ऊर्जा का आभास होता है। काफी सारे Ram Bhajan में से 10 ऐसे भजन लेकर आये है जो की आपको राम भक्ति के और समीप ले जायेंगे। Top 10 Ram Bhajan, Video, Lyrics.

Mangal Bhawan Amangal Hari Lyrics
मंगल भवन अमंगल हारी

मंगल भवन, अमंगल हारी,
द्रबहु सु दसरथ, अजिर बिहारी l
ll राम सिया राम, सिया राम जय जय राम ll
ll राम सिया राम, सिया राम जय जय राम ll

हो, हरि अनन्त, हरि कथा अनन्ता,
कहहि सुनहि, बहुविधि सब संता l
ll राम सिया राम, सिया राम जय जय राम ll
ll राम सिया राम, सिया राम जय जय राम ll

हो, होइहै मात पिता गुरु प्रभु के माणि,
बिनहि विचारे करे शुभ चानी।
ll राम सिया राम, सिया राम जय जय राम ll
ll राम सिया राम, सिया राम जय जय राम ll

हो, रघुकुल रीत, सदा चली आई,
प्राण जाए पर, वचन न जाई l
ll राम सिया राम, सिया राम जय जय राम ll
ll राम सिया राम, सिया राम जय जय राम ll

वो ही है सुई जो राम रच राधा,
को करि तर्क बढ़ावे शाखा।
ll राम सिया राम, सिया राम जय जय राम ll
ll राम सिया राम, सिया राम जय जय राम ll

हो, होइहै वही जो, राम रचि राखा,
को करे तर्क, बढ़ाए साखा l
ll राम सिया राम, सिया राम जय जय राम ll
ll राम सिया राम, सिया राम जय जय राम ll

हो, जाकी रही, भावना जैसी,
रघु मूरति, देखी तिन तैसी l
ll राम सिया राम, सिया राम जय जय राम ll
ll राम सिया राम, सिया राम जय जय राम ll

ll राम सिया, राम सिया, राम सिया राम ll
ll राम सिया, राम सिया, राम सिया राम ll
ll राम सिया, राम सिया, राम सिया राम ll
ll राम सिया, राम सिया, राम सिया राम ll
ll राम सिया, राम सिया, राम सिया राम ll
ll राम सिया, राम सिया, राम सिया राम ll
ll राम सिया, राम सिया, राम सिया राम ll
ll राम सिया, राम सिया, राम सिया राम ll

Ram Ji Ke Bhajan

Dunia Chale Naa Shree Raam Ke Bina
दुनिया चले ना श्री राम के बिना Ram Bhajan

दुनिया चले ना श्री राम के बिना,
राम जी चले ना हनुमान के बिना।

जब से रामायण पढ़ ली है,
एक बात मैंने समझ ली है,
रावन मरे नी श्री राम के बिना,
लंका जले ना हनुमान के बिना॥

लक्षण का बचना मुश्किल था,
कौन बूटी लाने के काबिल था,
लक्षण बचे ना श्री राम के बिना,
बूटी मिले ना हनुमान के बिना॥

सीता हरण की कहानी सुनो,
बनवारी मेरी जुबानी सुनो,
वापिस मिला ना श्री राम के बिना,
पता चले ना हनुमान के बिना॥

बैठे सिंघासन पे श्री राम जी,
चरणों में बैठे हैं हनुमान जी,
मुक्ति मिला ना श्री राम के बिना,
भक्ति मिले ना हनुमान के बिना॥

दुनिया चले ना श्री राम के बिना,
राम जी चले ना हनुमान के बिना।


Aao Basaye Man Mandir Me Jhanki Sitaram Ki
आओ बसाये मन मंदिर में झांकी सीताराम की लिरिक्स 

आओ बसाये मन मंदिर में, झांकी सीताराम की।
जिसके मन में राम नहीं वो, काया है किस काम की।

गौतम नारी अहिल्या तारी, श्राप मिला अति भारी था।
शिला रूप से मुक्ति पाई, चरण राम ने डाला था।
मुक्ति मिली तब वो बोली, जय जय सीताराम की।
जिसके मन में राम नहीं वो, काया है किस काम की।

जात पात का तोड़ के बंधन, शबरी मान बढ़ाया था।
हस हस खाते बेर प्रेम से, राम ने ये फ़रमाया था।
प्रेम भाव का भूखा हूँ मैं, चाह नहीं किसी काम की
जिसके मन में राम नहीं वो, काया है किस काम की

सागर में लिख राम नाम, नलनील ने पथ्थर तेराये।
इसी नाम से हनुमान जी, सीता जी की सुधि लाये।
भक्त विभीषण के मन में तब, ज्योत जगी श्री राम की।
जिसके मन में राम नहीं वो, काया है किस काम की।

भोले बनकर मेरे प्रभु ने, भक्तो का दुःख टाला था।
अवतार धर श्री राम ने, दुष्टों को संहारा था।
व्यास प्रभु की महिमा गाये, जय हो सीताराम की।
जिसके मन में राम नहीं वो, काया है किस काम की।

आओ बसाये मन मंदिर में, झांकी सीताराम की।
जिसके मन में राम नहीं वो, काया है किस काम की।

Ram Bhajan

Shree Ramchandra Kripalu Bhajman
श्री रामचन्द्र कृपालु भजुमन Ram Bhajan


श्री रामचन्द्र कृपालु भजुमन, हरण भवभय दारुणं ।
नव कंज लोचन कंज मुख, कर कंज पद कंजारुणं ॥

कन्दर्प अगणित अमित छवि, नव नील नीरद सुन्दरं ।
पटपीत मानहुँ तडित रुचि शुचि, नोमि जनक सुतावरं ॥

भजु दीनबन्धु दिनेश दानव, दैत्य वंश निकन्दनं ।
रघुनन्द आनन्द कन्द कोशल, चन्द दशरथ नन्दनं ॥

शिर मुकुट कुंडल तिलक, चारु उदारु अङ्ग विभूषणं ।
आजानु भुज शर चाप धर, संग्राम जित खरदूषणं ॥

इति वदति तुलसीदास शंकर, शेष मुनि मन रंजनं ।
मम् हृदय कंज निवास कुरु, कामादि खलदल गंजनं ॥

मन जाहि राच्यो मिलहि सो, वर सहज सुन्दर सांवरो ।
करुणा निधान सुजान शील, स्नेह जानत रावरो ॥

एहि भांति गौरी असीस सुन सिय, सहित हिय हरषित अली।
तुलसी भवानिहि पूजी पुनि-पुनि, मुदित मन मन्दिर चली ॥

॥सोरठा॥
जानी गौरी अनुकूल, सिय हिय हरषु न जाइ कहि ।
मंजुल मंगल मूल, वाम अङ्ग फरकन लगे।


Bol Suva Ram Ram Mithi Mithi Vani Re
बोल सुवा राम राम – Ram Ji Ka Bhajan

बोल सुवा राम राम, मीठी मीठी वाणी रे ॥
बोल सुवा राम राम, मीठी मीठी वाणी रे ॥
बोल सुवा राम राम…

बोल सुवा राम राम, मीठी मीठी वाणी रे ॥
बोल सुवा राम राम, मीठी मीठी वाणी रे ॥
बोल सुवा राम राम, मीठी मीठी वाणी रे ॥
बोल सुवा राम राम…

सोने के डाल सुवा पिंजरों घलाउ रे।
पिंजरे में मोत्यां वाली झालरी लगाउ रे॥
बोल सुवा राम राम…

बोल सुवा राम राम, मीठी मीठी वाणी रे ॥
बोल सुवा राम राम, मीठी मीठी वाणी रे ॥
बोल सुवा राम राम, मीठी मीठी वाणी रे ॥
बोल सुवा राम राम…

घिरत मिठाई सुवा लापसी बनाऊ रे।
आँवले रो रस तने घोल घोल पावू रे ॥
बोल सुवा राम राम…

बोल सुवा राम राम, मीठी मीठी वाणी रे ॥
बोल सुवा राम राम, मीठी मीठी वाणी रे ॥
बोल सुवा राम राम, मीठी मीठी वाणी रे ॥
बोल सुवा राम राम…

चंपा के डाल सुवा हिंडोरो घलाउ रे।
हिंडोरे बिठा म थाने हाथ स्यु हिंडावु रे॥
बोल सुवा राम राम…

बोल सुवा राम राम, मीठी मीठी वाणी रे ॥
बोल सुवा राम राम, मीठी मीठी वाणी रे ॥
बोल सुवा राम राम, मीठी मीठी वाणी रे ॥
बोल सुवा राम राम…

पगल्या रे माहि थारे पंजन्या पेराऊ रे।
मीरा गिरधारी शरणे, आया सुख पाउ रे॥
बोल सुवा राम राम…

बोल सुवा राम राम, मीठी मीठी वाणी रे ॥
बोल सुवा राम राम, मीठी मीठी वाणी रे ॥
बोल सुवा राम राम, मीठी मीठी वाणी रे ॥
बोल सुवा राम राम…

बोल सुवा राम राम, मीठी मीठी वाणी रे ॥
बोल सुवा राम राम, मीठी मीठी वाणी रे ॥
बोल सुवा राम राम, मीठी मीठी वाणी रे ॥
बोल सुवा राम राम, मीठी मीठी वाणी रे ॥
बोल सुवा राम राम…


Paar Hoga Wohi Jise Pakdoge Ram
Ram Bhajan पार होगा वही जिसे पकड़ोगे राम

पार होगा वही, जिसे पकड़ोगे राम ll
जिसको छोड़ोगे, पलभर में डूब जाएगा ll
पार होगा वही…

तैरना क्या जाने, पत्थर बेचारे l
तैरने लगे तेरे, नाम के सहारे ll
नाम लिखते ही, आ गए हैं, पत्थर में प्राण ll,
“जिसको छोड़ोगे, पलभर में डूब जाएगा”

पार होगा वही, जिसे पकड़ोगे राम ll
जिसको छोड़ोगे, पलभर में डूब जाएगा ll

लंका जलाई, लांघा समुन्दर l
राक्षस को मार आया, छोटा सा बन्दर ll
बस जपता रहा, दिन रात तेरा नाम ll,
“जिसको छोड़ोगे, पलभर में डूब जाएगा”

पार होगा वही, जिसे पकड़ोगे राम ll
जिसको छोड़ोगे, पलभर में डूब जाएगा ll

सुनकर के बाते, मुस्काए राम जी l
मारे ख़ुशी के, नाचे हनुमान जी ll
भक्त देखा ना, बनवारी, तेरे समान ll,
“जिसको छोड़ोगे, पलभर में डूब जाएगा”

पार होगा वही, जिसे पकड़ोगे राम ll
जिसको छोड़ोगे, पलभर में डूब जाएगा ll


shree ram bhajan
top 10 ram bhajan lyrics, videos

Mere Tan Me Bhi Ram Mere Man Me Bhi Ram
मेरे तन में भी राम मेरे मनन में भी राम

मेरे तन में भी राम, मेरे मन में भी राम।
रोम रोम में समाया तेरा नाम रे।
मेरी सांसो में तेरा ही नाम रे।।

Ram Bhajan

जैसे चंदा में राम, जैसे सूरज में राम।
अम्बर तारो में समाया तेरा नाम रे।।
मेरी सांसो में तेरा ही नाम रे।
मेरे तन में भी राम मेरे मन में भी राम।।

जैसे भीलनी के राम, जैसे मीरा के श्याम।
नर नारी में समाया तेरा नाम रे।।
मेरी सांसो में तेरा ही नाम रे।
मेरे तन में भी राम मेरे मन में भी राम।।

जैसे गंगा में राम, जमुना में श्याम ।
कण कण में समाया तेरा नाम रे ।।
मेरी सांसो में तेरा ही नाम रे।
मेरे तन में भी राम मेरे मन में भी राम।।

जैसे सीता के राम, जैसे राधा के श्याम।
पत्ते पत्ते में समाया तेरा नाम रे।।
मेरी सांसो में तेरा ही नाम रे।
मेरे तन में भी राम मेरे मन में भी राम।।


Main To Ram Hi Ram Pukaaru
मैं तो राम ही राम पुकारू Ram Bhajan

राम जय जय राम श्री राम जय जय राम,
मैं तो राम ही राम पुकारू,
श्री राम नही मोरी सुध ली नि मैं कब से राह निहारु,
राम जय जय राम श्री राम जय जय राम ।।

बटेयु जाने वाले श्री राम प्रभु के मत वाले,
तू राम नाम रस पी ले तन मन की प्यास बुजा ले,
जग के कारा में पड़ा राम राम जय राम,
उतरे हनुमत जान कर राम भक्त का धाम ।।

मेघनाथ ने शक्ति मारी है,
तेरा राम बड़ा दुःख हारी है,
तुझे इक वैद ने उठाया है,
तू संजीवन लेने आया है ,

किते से आवे किते को जावे,
बाबा ने सब घेरा रे,
जानू है बड़ी दूर बटेयु
कर ले रैन बसेरा रे,

यही भगवन की आगेया है, तू यही विश्राम करे,
तू क्यों चिंता करता है, जो करना है सो राम करे,
राम लखन के जीवन में, कभी होगा नही अँधेरा रे,
जानू है बड़ी दूर बटेयु, कर ले रैन बसेरा रे,
जानू है बड़ी दूर बटेयु, कर ले रैन बसेरा रे ।।

तुझे भूख प्यास नही लागे, मैं ऐसा मन्त्र बता दूंगा,
तुझे जिस पर्वत पे जाना, मैं पल भर पे पहुंचा दूंगा,
स्नान ध्यान करके तू आजा, तोहे बना लू चेरा रे,
जानू है बड़ी दूर बटेयु, कर ले रैन बसेरा रे,
जानू है बड़ी दूर बटेयु, कर ले रैन बसेरा रे ।।


Rama Rama Rat Te Tat Te
shri ram bhajan रामा रामा रटते रटते

रामा रामा, रटते रटते, बीती रे उमरिया,
रघुकुल नंदन, कब आओगे, भिलनी की डगरिया।।

रामा रामा, रटते रटते, बीती रे उमरिया,
रामा रामा, रटते रटते, बीती रे उमरिया,
रघुकुल नंदन, कब आओगे, भिलनी की डगरिया,
रामा रामा, रटते रटते, बीती रे उमरिया।।

मैं शबरी, भिलनी की जाई, भजन भाव नहीं जानु रे l
राम तुम्हारे, दर्शन के हित, वन में जीवन पालूं रे ll
चरण कमल से, निर्मल करदो, दासी की झोंपड़िया।।

रामा रामा, रटते रटते, बीती रे उमरिया,
रामा रामा, रटते रटते, बीती रे उमरिया,
रघुकुल नंदन, कब आओगे, भिलनी की डगरिया,
रामा रामा, रटते रटते, बीती रे उमरिया।।

सुबह शाम नित, उठकर मै तो, चुन चुन कर फल लाऊँगी l
अपने प्रभु के, सन्मुख रख के, प्रेम से भोग लगाऊँगी ll
अपने प्रभु के, दर्शन करने, तरसे यह नज़रिया।।

रामा रामा, रटते रटते, बीती रे उमरिया,
रामा रामा, रटते रटते, बीती रे उमरिया,
रघुकुल नंदन, कब आओगे, भिलनी की डगरिया,
रामा रामा, रटते रटते, बीती रे उमरिया।।

रोज सवेरे, वन में जाकर, रास्ता साफ़ कराती हूँ l
अपने प्रभु के, खातिर वन से, चुन चुन के फल लाती हूँ ll
मीठे मीठे, बेरन से भर, लाई मैं छवडिया।।

रामा रामा, रटते रटते, बीती रे उमरिया,
रामा रामा, रटते रटते, बीती रे उमरिया,
रघुकुल नंदन, कब आओगे, भिलनी की डगरिया,
रामा रामा, रटते रटते, बीती रे उमरिया।।

सुँदर श्याम, सलोनी सूरत, नयनन बीच बसाऊँगी l
पद पंकज की, रज धर मस्तक, चरणों में सीस निवाऊँगी ll
प्रभु जी मुझको, भूल गए क्या, दास की खबरिया।।

रामा रामा, रटते रटते, बीती रे उमरिया,
रामा रामा, रटते रटते, बीती रे उमरिया,
रघुकुल नंदन, कब आओगे, भिलनी की डगरिया,
रामा रामा, रटते रटते, बीती रे उमरिया।।

नाथ तुम्हारे, दर्शन के हित, मैं अबला इक नारी हूँ l
दर्शन बिन दोऊ, नैना तरसें, दिल की बड़ी दुखियारी हूँ ll
मुझको दर्शन, दे दो दयामय, डालो मेहर नजरिया॥

रामा रामा, रटते रटते, बीती रे उमरिया,
रामा रामा, रटते रटते, बीती रे उमरिया,
रघुकुल नंदन, कब आओगे, भिलनी की डगरिया,
रामा रामा, रटते रटते, बीती रे उमरिया।।


Ram Kahani Suno Re Ram Kahani Bhajan
राम कहानी सुनो रे राम कहानी

राम कहानी सुनो रे राम कहानी …
युगो युगो से जिसको वेदो ने वखानी राम कहानी …॥

जब राज तिलक दिन आया ॥
सब अवध ने मगंल गाया ॥
फिर अगले ही पल होनी ने इस ऐसा चक्र चलाया ॥
माता कैक्यी के मन में ना जाने क्या ठानी ॥  
राम कहानी सुनो रे राम कहानी ॥

खेवट को देख कर नईया फिर बोले जग के खवईया ..॥
हमें गंगा पार लगादो मेरे प्यारे खेवट भईया ..॥
सेवक स्वामी पर करे मेहरवानी …॥
राम कहानी सुनो रे राम कहानी ॥

जिस कारण वन में आए ..॥
वो कारण दूर किया है ..॥
ऋषियों के कष्ट मिटा के ..॥
हर सकंट दूर किया है …॥
जिसको वाणो से मारा रावण अभिमानी ..॥
राम कहानी सुनो रे राम कहानी ॥

सेवक भिषण तारा – कहे लंकेशवर जंग सारा ..॥
आया फिर राम राज्य मिटे पाप हुआ उजियारा ..॥
राम की महिमा गाऐ हर इक प्राणी॥
राम कहानी सुनो रे राम कहानी ॥
ram ji ke bhajan


Top 10 Ram Bhajan, video, lyrics” भजन आपको कैसा लगा कमेंट करके बताये।

इस मनमोहक भजन को दूसरे लोगो के साथ शेयर करके उन्हें भी राम भक्ति का आंनद लेने दे .

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here