गणेश जी की आरती लिरिक्स | Shri Ganesh Ji Ki Aarti Lyrics

भगवान गणेश जी की आरती “गणेश जी की आरती लिरिक्स | Shri Ganesh Ji Ki Aarti Lyrics” अनुराधा पौडवाल जी के द्वारा गाया हुआ है। इस भजन में गणेश जी का अपने कारज में आमंत्रित किया जा रहा और उन्हें प्रसन्न किया जा रहा है।


Ganesh Ji Ki Aarti Lyrics In Hindi

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा

एकदन्त दयावन्त चारभुजाधारी
माथे पर तिलक सोहे, मूसे की सवारी

पान चढ़े फूल चढ़े, और चढ़े मेवा
लड्डुअन का भोग लगे, सन्त करे सेवा

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा

अँधे को आँख देत, कोढ़िन को काया
बाँझन को पुत्र देत, निर्धन को माया

सूर श्याम शरण आए, सफल कीजे सेवा
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा

माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा..

Extra :

दीनन की लाज रखो, शंभु सुतकारी
कामना को पूर्ण करो, जाऊं बलिहारी

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा

देखिये: 2 करोड़ से ज्यादा देखा जाने वाला गणेश जी का यह भजन

अनुराधा पौडवाल का गणपति अथर्वशीर्ष

गणेश जी का सबसे पॉपुलर भजन


Ganesh Ji Ki Aarti Lyrics In English

Jai Ganesh Jai Ganesh Jai Ganesh Deva
Mata Jaki Parvati, Pita Mahadeva

Ekadanta Dayavanta, Char Bhujadhaari
Mathe Par Tilak Sohe, Muse Ki Savari

Paan Charhe, Phool Charhe Aur Charhe Meva
Ladduan Ka Bhog Lage, Sant Karein Seva

Jai Ganesh Jai Ganesh Jai Ganesh Deva
Mata Jaki Parvati, Pita Mahadeva

Andhe Ko Aankh Deta, Korhina Ko Kaya
Baanjhana Ko Putra Deta, Nirdhana Ko Maya

Soora Shyama Sharana Aaye, Saphal Kije Seva
Mata Jaki Parvati, Pita Mahadeva

Maata Jaki Parvati, Pitaa Mahadeva
Mataa Jaki Parvati, Pita Mahadeva..

कष्टों का निदान करने वाली श्री गणेश चालीसा

घर में पधारो गजानंद जी लिरिक्स

Ganesh Ji Ki Aarti Lyrics In English
Shri Ganesh Ji Ki Aarti Lyrics

Ganpati Aarti Marathi Lyrics

सुख करता दुखहर्ता, वार्ता विघ्नाची
नूर्वी पूर्वी प्रेम कृपा जयाची
सर्वांगी सुन्दर उटी शेंदु राची
कंठी झलके माल मुकताफळांची

जय देव जय देव, जय मंगल मूर्ति
दर्शनमात्रे मनःकमाना पूर्ति
जय देव जय देव

रत्नखचित फरा तुझ गौरीकुमरा
चंदनाची उटी कुमकुम केशरा
हीरे जडित मुकुट शोभतो बरा
रुन्झुनती नूपुरे चरनी घागरिया

जय देव जय देव, जय मंगल मूर्ति
दर्शनमात्रे मनःकमाना पूर्ति
जय देव जय देव

लम्बोदर पीताम्बर फनिवर वंदना
सरल सोंड वक्रतुंडा त्रिनयना
दास रामाचा वाट पाहे सदना
संकटी पावावे निर्वाणी रक्षावे सुरवर वंदना

जय देव जय देव, जय मंगल मूर्ति
दर्शनमात्रे मनःकमाना पूर्ति
जय देव जय देव

शेंदुर लाल चढायो अच्छा गजमुख को
दोन्दिल लाल बिराजे सूत गौरिहर को
हाथ लिए गुड लड्डू साई सुरवर को
महिमा कहे ना जाय लागत हूँ पद को

जय जय जय जय जय
जय जय जी गणराज विद्यासुखदाता
धन्य तुम्हारो दर्शन मेरा मत रमता
जय देव जय देव

अष्ट सिधि दासी संकट को बैरी
विघन विनाशन मंगल मूरत अधिकारी
कोटि सूरज प्रकाश ऐसे छबी तेरी
गंडस्थल मद्मस्तक झूल शशि बहरी

जय जय जय जय जय
जय जय जी गणराज विद्यासुखदाता
धन्य तुम्हारो दर्शन मेरा मत रमता
जय देव जय देव

भावभगत से कोई शरणागत आवे
संतति संपत्ति सबही भरपूर पावे
ऐसे तुम महाराज मोको अति भावे
गोसावीनंदन निशिदिन गुण गावे

जय जय जी गणराज विद्यासुखदाता
धन्य तुम्हारो दर्शन मेरा मत रमता
जय देव जय देव

Shri Ganesh Ji Ki Aarti Lyrics


हमें उम्मीद है की सभी गणेश जी के भक्तो को यह आर्टिकल “गणेश जी की आरती लिरिक्स | Shri Ganesh Ji Ki Aarti Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “ Shri Ganesh Ji Ki Aarti Lyrics ” के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment