आरती कीजै हनुमान लला की | Aarti Ki Jai Hanuman Lala Ki Lyrics

पवन पुत्र हनुमान जी की अति पावन आरती “आरती कीजै हनुमान लला की | Aarti Ki Jai Hanuman Lala Ki” – हरिहरण जी के द्वारा गाया गया है। इस आरती में श्रीराम के सबसे बड़े भक्त हनुमान जी की राम भक्ति बताया गया है।


आरती कीजै हनुमान लला की लिरिक्स

आरती कीजै हनुमान लला की।
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की॥

जाके बल से गिरिवर कांपे।
रोग दोष जाके निकट न झांके॥

अंजनि पुत्र महा बलदाई।
सन्तन के प्रभु सदा सहाई॥

आरती कीजै हनुमान लला की।
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की॥

दे बीरा रघुनाथ पठाए।
लंका जारि सिया सुधि लाए॥

लंका सो कोट समुद्र-सी खाई।
जात पवनसुत बार न लाई॥

आरती कीजै हनुमान लला की।
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की॥

लंका जारि असुर संहारे।
सियारामजी के काज सवारे॥

लक्ष्मण मूर्छित पड़े सकारे।
आनि संजीवन प्राण उबारे॥

आरती कीजै हनुमान लला की।
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की॥

पैठि पाताल तोरि जम-कारे।
अहिरावण की भुजा उखारे॥

बाएं भुजा असुरदल मारे।
दाहिने भुजा संतजन तारे॥

आरती कीजै हनुमान लला की।
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की॥

सुर नर मुनि आरती उतारें।
जय जय जय हनुमान उचारें॥

कंचन थार कपूर लौ छाई।
आरती करत अंजना माई॥

आरती कीजै हनुमान लला की।
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की॥

जो हनुमानजी की आरती गावे।
बसि बैकुण्ठ परम पद पावे॥

आरती कीजै हनुमान लला की।
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की॥


Aarti Ki Jai Hanuman Lala Ki Lyrics

Aarti Ki Jai Hanuman Lala Ki
Dushat Dalan Ragunath Kala Ki ….x(3)

Ja Ke Bal Se Giriver Kaanpe,
Rog Dosh Ja Ke Nikat Na Jaanke
Anjani Putra Mahabaldaye,
Santan Ke Prabhu Sada Sahaye.

Aarti Ki Jai Hanuman Lala Ki
Aarti Ki Jai Hanuman Lala Ki

De Beeraha Raghunath Pathai,
Lanka Jaari Siya Sudhi Laiye
Lanka So Kot Samundra Se Khaiy,
Jaat Pavan Sut Baar Na Laiye.

Aarti Ki Jai Hanuman Lala Ki
Lanka Jaari Asur Sab Maare,
Siya Ramji Ke Kaaj Sanvare.
Lakshman Moorchit Parhe Sakare,
Aan Sajeevan Pran Ubhaare.

Aarti Ki Jai Hanuman Lala Ki
Paith Pataal Tori Jamkare,
Ahiravan Ke Bhuja Ukhaare….x(2)
Baayen Bhuja Asur Dal Mare,
Dahin Bhuja Sab Santa Jana Tare.

Aarti Ki Jai Hanuman Lala Ki
Sur nar Muni Aarti Utare,
Jai Jai Jai Hanuman Uchaare….x(2)
Kanchan Thaar Kapoor Lo Chhai, 
Aarti Karat Aajani Mai. 

Aarti Ki Jai Hanuman Lala Ki
Jo Hanumanji Ki Aarti Gaave,
Basi Baikuntha Param Padh Pave….x(2)
Aarti Ki Jai Hanuman Lala Ki
Dushat Dalan Ragunath Kala Ki….x(2)

Aarti Ki Jai Hanuman Lala Ki

हमें उम्मीद है की श्री राम के भक्त हनुमान जी की आरती का यह आर्टिकल “आरती कीजै हनुमान लला की | Aarti Ki Jai Hanuman Lala Ki Lyrics” + Video + Audio बहुत पसंद आया होगा। “ आरती कीजै हनुमान लला की ” आरती के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

hanuman aarti lyrics , hanuman ji ki aarti lyrics , aarti kije hanuman lala ki lyrics , आरती की जय हनुमान लला की pdf , hanuman aarti pdf , hanuman aarti lyrics in hindi , आरती की जय हनुमान लला की लिरिक्स , आरती कीजै हनुमान लला की ,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here