लाल लंगोटो हाथ में सोटो भजन लिरिक्स | Lal Langoto Hath Me Soto Bhajan Lyrics

पवन पुत्र हनुमान जी का अति पावन भजन “लाल लंगोटो हाथ में सोटो भजन लिरिक्स | Lal Langoto Hath Me Soto Bhajan Lyrics” – कुमार ऋषि जी के द्वारा गाया गया है। इस भजन में श्रीराम के सबसे बड़े भक्त हनुमान जी की राम भक्ति बताया गया है।


Lal Langoto Hath Me Soto Bhajan Lyrics

श्लोक
लाल देह लाली लसे,
अरु धर लाल लंगुर,
वज्र देह दानव दलन,
जय जय जय कपि सूत।

लाल लंगोटो हाथ में सोटो,
लाल लंगोटो हाथ मे सोटो,
थारी जय हो पवन कुमार,
मैं वारि जाऊँ बालाजी।।

सालासर थारो देवरो है,
मेहंदीपुर थारो देवरो है,
थारे नोबत बाजे द्वार,
मैं वारि जाऊँ बालाजी।।

चैत्र सुदी पूनम को मेलो,
चैत्र सुदी पूनम को मेलो,
थारे आये भगत हजार,
मैं वारि जाऊँ बालाजी।।

तेल सिंदूर चढ़े तन ऊपर,
कोई मंगल और शनिवार,
मैं वारि जाऊँ बालाजी।।

लाल लंगोटो हाथ मे सोटो,
थारी जय जो पवन कुमार,
मैं वारि जाऊँ बालाजी,
थारी जय हो दीनदयाल,
मैं वारि जाऊँ बालाजी।।

Lal Langoto Hath Me Soto Bhajan Lyrics

हमें उम्मीद है की श्री राम के भक्त हनुमान जी ये भजन का यह आर्टिकल “लाल लंगोटो हाथ में सोटो भजन लिरिक्स | Lal Langoto Hath Me Soto Bhajan Lyrics” + Video + Audio बहुत पसंद आया होगा। “ Lal Langoto Hath Me Soto Bhajan Lyrics ” भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here