shri shiv stuti Header

आरती की जय राजा रामचंद्र जी की लिरिक्स | Aarti Ki Jai Raja Ramchandra Ji Ki Lyrics

मर्यादा पुरषोत्तम श्री राम का अति पावन भजन “आरती की जय राजा रामचंद्र जी की लिरिक्स | Aarti Ki Jai Raja Ramchandra Ji Ki Lyrics ” – राकेश त्रिवेदी जी के द्वारा गाया गया है। इस भजन में राम भक्ति की महिमा का बखान किया गया है।


आरती की जय राजा रामचंद्र जी की लिरिक्स

आरती कीजै राजा रामचन्‍द्र जी के
हरिहर भक्ति का रघु संतन सुख दीजै हो।
आरती कीजै राजा रामचन्‍द्र जी के
हरिहर भक्ति का रघु संतन सुख दीजै हो।।

पहली आरती पुष्‍प की माला
पहली आरती पुष्‍प की माला
पुष्‍प की माला हरिहर पुष्‍प की माला
कालिय नाग नाथ लाये कृष्‍ण गोपाला हो।
आरती कीजै राजा रामचन्‍द्र जी के
हरिहर भक्ति का रघु संतन सुख दीजै हो।।

दूसरी आरती देवकी नन्‍दन
दूसरी आरती देवकी नन्‍दन
देवकी नन्‍दन हरिहर देवकी नन्‍दन
भक्‍त उबारे असुर निकन्‍दन हो
आरती कीजै राजा रामचन्‍द्र जी के
हरिहर भक्ति का रघु संतन सुख दीजै हो।।

तीसरी आरती त्रिभुवन मोहे
तीसरी आरती त्रिभुवन मोहे
त्रिभुवन मोहे हरिहर त्रिभुवन मोहे हो
गरुण सिंहासन राजा रामचन्‍द्र शोभै हो
आरती कीजै राजा रामचन्‍द्र जी के
हरिहर भक्ति का रघु संतन सुख दीजै हो।।

चौथी आरती चहुँ युग पूजा
चौथी आरती चहुँ युग पूजा
चहुँ युग पूजा हरिहर चहुँ युग पूजा
चहुँ ओरा राम नाम अउरु न दूजा हो
आरती कीजै राजा रामचन्‍द्र जी के
हरिहर भक्ति का रघु संतन सुख दीजै हो।।

पंचम आरती रामजी के भावै
पंचम आरती रामजी के भावै
रामजी के भावै हरिहर रामजी के भावै
रामनाम गावै परमपद पावौ हो
आरती कीजै राजा रामचन्‍द्र जी के
हरिहर भक्ति का रघु संतन सुख दीजै हो।।

षष्‍ठम आरती लक्ष्‍मण भ्राता
षष्‍ठम आरती लक्ष्‍मण भ्राता
लक्ष्‍मण भ्राता हरिहर लक्ष्‍मण भ्राता
आरती उतारे कौशिल्‍या माता हो
आरती कीजै राजा रामचन्‍द्र जी के
हरिहर भक्ति का रघु संतन सुख दीजै हो।।

सप्‍तम आरती ऐसो तैसो
सप्‍तम आरती ऐसो तैसो
ऐसो तैसो हरिहर ऐसो तैसो
ध्रुव प्रहलाद विभीषण जैसो हो
आरती कीजै राजा रामचन्‍द्र जी के
हरिहर भक्ति का रघु संतन सुख दीजै हो।।

अष्‍टम आरती लंका सिधारे
अष्‍टम आरती लंका सिधारे
लंका सिधारे हरिहर लंका सिधारे
रावन मारे विभीषण तारे हो
आरती कीजै राजा रामचन्‍द्र जी के
हरिहर भक्ति का रघु संतन सुख दीजै हो।।

नवम आरती वामन देवा
नवम आरती वामन देवा
वामन देवा हरिहर वामन देवा
बलि के द्वारे करें हरि सेवा हो
आरती कीजै राजा रामचन्‍द्र जी के
हरिहर भक्ति का रघु संतन सुख दीजै हो।।

कंचन थाल कपूर की बाती
कंचन थाल कपूर की बाती
कपूर की बाती हरिहर कपूर की बाती
जगमग ज्‍योति जले सारी राती हो
आरती कीजै राजा रामचन्‍द्र जी के
हरिहर भक्ति का रघु संतन सुख दीजै हो।।

तुलसी के पात्र कण्‍ठ मन हीरा
तुलसी के पात्र कण्‍ठ मन हीरा
कण्‍ठ मन हीरा हरिहर कण्‍ठ मन हीरा
हुलसि हुलसि गये दास कबीरा हो
आरती कीजै राजा रामचन्‍द्र जी के
हरिहर भक्ति का रघु संतन सुख दीजै हो।।

जो राजा रामजी के आरती गावै
जो राजा रामजी के आरती गावै
आरती गावै हरिहर आरती गावै
बैठ बैकुण्‍ठ परम पद पावै हो
आरती कीजै राजा रामचन्‍द्र जी के
हरिहर भक्ति का रघु संतन सुख दीजै हो।।


Aarti Ki Jai Raja Ramchandra Ji Ki Lyrics

Aarti Ki Jai Raja Ramchandra Ji Ki
Harihar Bhakti Ka Raghu Santan Sukh Deeje Ho
Aarti Ki Jai Raja Ramchandra Ji Ki
Harihar Bhakti Ka Raghu Santan Sukh Deeje Ho

Pahli Aarti Pusph Ki Mala
Pahli Aarti Pusph Ki Mala
Pusph Ki Mala Harihar Pusph Ki Mala
Kaliya Naag Naath Laaye Krishn Gopala Ho
Aarti Ki Jai Raja Ramchandra Ji Ki
Harihar Bhakti Ka Raghu Santan Sukh Deeje Ho

Dusri Aarti Devki Nandan
Dusri Aarti Devki Nandan
Devki Nandan Harihar Devki Nandan
Bhakt Ubare Asur Nikandan Ho
Aarti Ki Jai Raja Ramchandra Ji Ki
Harihar Bhakti Ka Raghu Santan Sukh Deeje Ho

Tisri Aarti Tribhuvan Mohe
Tisri Aarti Tribhuvan Mohe
Tribhuvan Mohe Harihar Tribhivan Mohe Ho
Garud Sinhasan Raja Ramchandra Shobhe Ho
Aarti Ki Jai Raja Ramchandra Ji Ki
Harihar Bhakti Ka Raghu Santan Sukh Deeje Ho

Chothi Aarti Chahu Yug Pooja
Chothi Aarti Chahu Yug Pooja
Chahu Yug Pooja Harihar Chahu Yug Pooja
Chahu Aura Ram Naam Aur Na Duja Ho
Aarti Ki Jai Raja Ramchandra Ji Ki
Harihar Bhakti Ka Raghu Santan Sukh Deeje Ho

Pancham Aarti Ramji Ke Bhave
Pancham Aarti Ramji Ke Bhave
Ramji Ke Bhave Harihar Ramji Ke Bhave
Ramnaam Gaave Parampad Paavo Ho
Aarti Ki Jai Raja Ramchandra Ji Ki
Harihar Bhakti Ka Raghu Santan Sukh Deeje Ho

Sashtam Aarti Lakshman Bhrata
Sashtam Aarti Lakshman Bhrata
Lakshaman Bhrata Harihar Lakshman Bhrata
Aarti Utare Koshilya Mata Ho
Aarti Ki Jai Raja Ramchandra Ji Ki
Harihar Bhakti Ka Raghu Santan Sukh Deeje Ho

Saptam Aarti Aiso Taiso
Saptam Aarti Aiso Taiso
Aiso Taiso Harihar Aiso Taiso
Dhruv Prahlaad Vibhishan Jaiso Ho
Aarti Ki Jai Raja Ramchandra Ji Ki
Harihar Bhakti Ka Raghu Santan Sukh Deeje Ho

Ashtam Aarti Lanka Sidhare
Ashtam Aarti Lanka Sidhare
Lanka Sidhare Harihar Lanka Sidhare
Raavan Maare Vibhishan Haare Ho
Aarti Ki Jai Raja Ramchandra Ji Ki
Harihar Bhakti Ka Raghu Santan Sukh Deeje Ho

Navam Aarti Vaaman Deva
Navam Aarti Vaaman Deva
Vaaman Deva Harihar Vaaman Deva
Bali Ke Dware Kare Hari Seva Ho
Aarti Ki Jai Raja Ramchandra Ji Ki
Harihar Bhakti Ka Raghu Santan Sukh Deeje Ho

Kanchal Thaal Kapoor Ki Baati
Kanchal Thaal Kapoor Ki Baato
Kapoor Ki Baati Harihar Kapoor Ki Baati
Jagmag Jyoti Jale Sari Raati Ho
Aarti Ki Jai Raja Ramchandra Ji Ki
Harihar Bhakti Ka Raghu Santan Sukh Deeje Ho

Tulsi Ke Patra Kanth Man Heera
Tulsi Ke Patra Kanth Man Heera
Kanth Man Heera Harihar Kanth Man Heera
Hulsi Hulsi Gaye Daas Kabira Ho
Aarti Ki Jai Raja Ramchandra Ji Ki
Harihar Bhakti Ka Raghu Santan Sukh Deeje Ho

Jo Raja Ramji Ke Aarti Gaave
Jo Raja Ramji Ke Aarti Gaave
Aarti Gaave Harihar Aarti Gaave
Baith Baikunth Param Pad Paave Ho
Aarti Ki Jai Raja Ramchandra Ji Ki
Harihar Bhakti Ka Raghu Santan Sukh Deeje Ho

Aarti Ki Jai Raja Ramchandra Ji Ki Lyrics

Aarti Ki Jai Raja Ramchandra Ji Ki Lyrics PDF


हमें उम्मीद है की श्री राम के भक्तो को यह आर्टिकल “आरती की जय राजा रामचंद्र जी की लिरिक्स | Aarti Ki Jai Raja Ramchandra Ji Ki Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “Aarti Ki Jai Raja Ramchandra Ji Ki Lyrics” भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment