Yamuna Ji Ki Aarti | श्री यमुना जी की आरती

यमुना जी की आरतीYamuna Ji Ki Aarti | श्री यमुना जी की आरती” Supriya Joshi के द्वारा गायी हुई है। यमुना जी में नहाने से सब सुख प्राप्त होते है। यमुना जी के पावन जल की धारा में नहाने वाला माँ यमुना जी की शरण में चला जाता है

श्री यमुना जी की आरती लिरिक्स
Yamuna Ji Ki Aarti lyrics

ॐ जय यमुना माता, हरि ॐ जय यमुना माता,
नो नहावे फल पावे सुख सुख की दाता |ॐ

पावन श्रीयमुना जल शीतल अगम बहै धारा,
जो जन शरण से कर दिया निस्तारा |ॐ

जो जन प्रातः ही उठकर नित्य स्नान करे,
यम के त्रास न पावे जो नित्य ध्यान करे |ॐ

कलिकाल में महिमा तुम्हारी अटल रही,
तुम्हारा बड़ा महातम चारों वेद कही |ॐ

आन तुम्हारे माता प्रभु अवतार लियो,
नित्य निर्मल जल पीकर कंस को मार दियो |ॐ

नमो मात भय हरणी शुभ मंगल करणी,
मन ‘बेचैन’ भय है तुम बिन वैतरणी |ॐ

Yamuna Ji Ki Aarti

हमें उम्मीद है की यमुना जी के भक्तो को यह आर्टिकल Yamuna Ji Ki Aarti | श्री यमुना जी की आरती Lyrics + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। Aarti के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये। आप अपनी फरमाइश भी हमे कमेंट करके बता सकते है। हम वो भजन, आरती आदि जल्द से जल्द लाने को कोशिश करेंगे।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here