मेरे राघव जी उतरेंगे पार हो लिरिक्स | Mere Raghav Ji Utrenge Paar Ho Lyrics

मर्यादा पुरषोत्तम श्री राम का अति पावन भजन “मेरे राघव जी उतरेंगे पार हो लिरिक्स | Mere Raghav Ji Utrenge Paar Ho Lyrics” – रिया सिंह जी के द्वारा गाया गया है। इस भजन में राम भक्ति की महिमा का बखान किया गया है।


Mere Raghav Ji Utrenge Paar Ho Lyrics

मेरे राघव जी उतरेंगे पार हो,
गंगा मैंया धीरे बहो ।
धीरे बहो धीरे बहो हौले बहो,
गंगा मैंया धीरे बहो ।।

मेंरे प्रभू जी उतरेंगे पार हो,
गंगा मैंया धीरे बहो ।
आज सफल हुये नयन हमारे,
प्रभू जी विराजे हैं नाव हमारे ।।

ये तो जग के पालनहार,
गंगा मैंया धीरे बहो ।
मेंरे प्रभू जी उतरेंगे पार हो,
गंगा मैंया धीरे बहो ।।

भव सरिता के खेवनहारे ।
आज हमारे नाव पधारे ।।

ये तो दशरथ राजकुमार,
गंगा मैंया धीरे बहो ।
मेंरे राघव जी उतरेंगे पार हो,
गंगा मैंया धीरे बहो ।।

सीता लखन ,प्रभू पार उतारो ।
बिगड़ी जनम आगे की सुधारो ।।

ये तो रघुबर प्राणाधार ,
गंगा मैंया धीरे बहो ।
मेंरे राघव जी उतरेंगे पार हो ,
गंगा मैंया धीरे बहो ।।

केवट उतरी दंडबत कीना,
प्रभू उतराई मणि मुद्रिका दीना ।
कहें कृपालु लेलो उतराई,
केवट चरण पकड़ अकुलाई ।।

अब कछु नाथ न चाहिये मोरे,
दीन दयालु अनुग्रह तोरे ।
फिरती बार मैं जो कछु पावा ,
समझ प्रसाद मैं सिर धरि पावा।।

मेंरे राघव जी उतरेंगे पार हो ।
गंगा मैंया धीरे बहो ।।

Mere Raghav Ji Utrenge Paar Ho Lyrics

हमें उम्मीद है की श्री राम के भक्तो को यह आर्टिकल “मेरे राघव जी उतरेंगे पार हो लिरिक्स | Mere Raghav Ji Utrenge Paar Ho Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। ‘ Mere Raghav Ji Utrenge Paar Ho Lyrics ‘ भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment