shri shiv stuti Header

तुम बसी ही कण कण अंदर माँ लिरिक्स | Tum Basi Ho Kan Kan Andar Maa Lyrics

दुर्गा माता का भजन “तुम बसी ही कण कण अंदर माँ लिरिक्स | Tum Basi Ho Kan Kan Andar Maa Lyrics” मिलन सिंह जी के द्वारा गाया हुआ है। दुर्गा माता का भजन, वीडियो और लिरिक्स दिया गया है।


Tum Basi Ho Kan Kan Andar Maa Lyrics

तुम बसी हो कण कण अंदर माँ
हम ढूँढ़ते रह गये मंदिर में
तुम बसी हो कण कण अंदर माँ
हम ढूँढ़ते रह गये मंदिर में

हम मूढ़मति हम अनजाने
माँ साथ तुम्हारा क्या जाने
तुम बसी हो कण कण अंदर माँ
हम ढूँढ़ते रह गये मंदिर में

तेरी माया तो ना जान सके
तुझको ना कभी पहचान सके
हम मोह की निद्रा सोये रहे
माँ इधर उधर ही खोये रहे

तू सूरज तू ही चन्द्रमा
हम ढूँढ़ते रह गये मंदिर में
तुम बसी हो कण कण अंदर माँ
हम ढूँढ़ते रह गये मंदिर में

तुम बसी हो कण कण अंदर माँ
हम ढूँढ़ते रह गये मंदिर में

हर जगह तुम्हारे डेरे माँ
कोई खेल ना जाने तेरे माँ
इन नैनो को ना पता लगे
किस रूप में तेरी ज्योत जगे

तू पर्बत तू ही समंदर माँ
हम ढूँढ़ते रह गये मंदिर में
तुम बसी हो कण कण अंदर माँ
हम ढूँढ़ते रह गये मंदिर में

तुम बसी हो कण कण अंदर माँ
हम ढूँढ़ते रह गये मंदिर में

कोई कहता तुम ही भवन में हो
और तुम ही ज्वाला अगन में हो
कहते है अम्बर और ज़मीं
तुम सब कुछ हो हम कुछ भी नही

फल फूल तुम्ही हो तरवर माँ
हम ढूँढ़ते रह गये मंदिर में
तुम बसी हो कण कण अंदर माँ
हम ढूँढ़ते रह गये मंदिर में

तुम बसी हो कण कण अंदर माँ
हम ढूँढ़ते रह गये मंदिर में

Tum Basi Ho Kan Kan Andar Maa Lyrics

हमें उम्मीद है की माँ दुर्गा के भक्तो को यह आर्टिकल “तुम बसी ही कण कण अंदर माँ लिरिक्स | Tum Basi Ho Kan Kan Andar Maa Lyrics” + Video + Audio बहुत पसंद आया होगा। “तुम बसी ही कण कण अंदर माँ लिरिक्स | Tum Basi Ho Kan Kan Andar Maa Lyrics” पर आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये। आप अपनी फरमाइश भी हमे कमेंट करके बता सकते है। हम वो भजन, आरती आदि जल्द से जल्द लाने को कोशिश करेंगे।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment