सांवरियां की होली रे लिरिक्स | Sanwariya Ki Holi Re Lyrics

कृष्ण भगवान का यह अद्बुध भजन “सांवरियां की होली रे लिरिक्स | Sanwariya Ki Holi Re Lyrics” अरुण प्रजापति जी के द्वारा गाया हुआ है। भजन के लिरिक्स हिंदी और इंग्लिश में वीडियो के साथ दिए हुए है।


Sanwariya Ki Holi Re Lyrics

नन्द लाला ने बरसाने में खेली ऐसी होली रे
मैं तो सांवरियां की हो ली रे
तन मन चोला साडी चुनर भीग गई मेरी चोली रे
मैं तो सांवरियां की हो ली रे

गालन पे मेरे रंग लगा के
तिरशे तिरशे नैन चला के
कह गयो मीठी बोली रे
मैं तो सांवरियां की हो ली रे

जीवन के सब राज बदल कर
सोते सोते भाग बदल गये
किस्मत मेरी खोली रे
मैं तो सांवरियां की हो ली रे

बरसाने की नार नवेली
क्या करती रह गई अकेली
वो तो संग सखा की टोली रे
मैं तो सांवरियां की हो ली रे

गया नन्द मेरे मन वासियां ने
होरी के या रंग रसियां ने
मेरे दिल की कुण्डी खोली रे
मैं तो यहाँ रसिया की हो ली रे

Sanwariya Ki Holi Re Lyrics

हमें उम्मीद है की श्री कृष्ण के भक्तो को यह आर्टिकल “सांवरियां की होली रे लिरिक्स | Sanwariya Ki Holi Re Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “Sanwariya Ki Holi Re Lyrics” भजन के आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment

आरती : जय अम्बे गौरी मैया जय श्यामा गौरी