नंदी भरंगी नाच रहे देखो गनपत पधारे लिरिक्स | Nandi Bharngi Naach Rahe Dekho Ganpat Padhare Lyrics

भगवान शिव का भजन “नंदी भरंगी नाच रहे देखो गनपत पधारे लिरिक्स | Nandi Bharngi Naach Rahe Dekho Ganpat Padhare Lyrics” राकेश काला जी के द्वारा गाया हुआ है। भजन के लिरिक्स हिंदी और इंग्लिश में वीडियो के साथ दिए हुए है।


Nandi Bharngi Naach Rahe Dekho Ganpat Padhare Lyrics

नंदी भरंगी नाच रहे देखो गनपत पधारे
गनपत पधारे गोरी ललना पधारे
शिव घन मिठाई बाँट रहो देखो गनपत पधारे

शिव ने घज का शीश लगाया
प्रथम पूज तुम को बनवाया
घनो का इश बनाये रहे देखो गूंजे जयकारे
नंदी भरंगी नाच रहे देखो गनपत पधारे

ब्रह्मा ने वेद दिए ज्ञान भरमानी
लक्ष्मी लुटाई धन और धानी
इन्दर एह रावत लाये रहे और वज्र भी लाये
नंदी भरंगी नाच रहे देखो गनपत पधारे

शिव गोरा के लाल हो प्यारे
भव से देवा पार उतारे चन्दन शीश झुकाए रहे
देखो चरणों में थारे
नंदी भरंगी नाच रहे देखो गनपत पधारे

Nandi Bharngi Naach Rahe Dekho Ganpat Padhare Lyrics

हमें उम्मीद है की भगवान शिव के भक्तो को यह आर्टिकल “ नंदी भरंगी नाच रहे देखो गनपत पधारे लिरिक्स | Nandi Bharngi Naach Rahe Dekho Ganpat Padhare Lyrics ” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “ Nandi Bharngi Naach Rahe Dekho Ganpat Padhare Lyrics ” भजन के आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here