Tan Man Ki Sudh Bisar Gayi Hai Bhajan Lyrics – तन मन की सुध विसर गई है भजन लिरिक्स

Tan Man Ki Sudh Bisar Gayi Hai Bhajan Lyrics – तन मन की सुध विसर गई है भजन लिरिक्स


Tan Man Ki Sudh Bisar Gayi Hai Bhajan Lyrics
तन मन की सुध विसर गई है भजन लिरिक्स

तन मन की सुध विसर गई है ,
सन्मुख भोले नाथ खड़े है ।
इक टक सारे देख रहे है,
पार्वती जी साथ खड़े है ।।

शिव मंदिर में आ पहुंचे है भक्त तुम्हरे भोर हुए,
अध्भुत छवि निराली देख के सबआत्म अभिभोर हुए ।
छू कर इन पावन चरणों को आन्दित हम और हुए,
इक टक  सारे देख रहे है पार्वती जी साथ खड़े है ।।

देवी देवता और मुनि वर खड़े है सब तुझको गेरे,
प्रेम की गंगा उमड़ पड़ी है आये है जो द्वार तेरे ।
मन में कैसी लहर उठी है लगते सब हर्ष भरे,
इक टक  सारे देख रहे है पार्वती जी साथ खड़े है ।।

भगभागि वो नर नारी है तुम संग जिनकी प्रेत बड़ी,
उनके ताप हए है शीतल जिनपे तेरी नजर पड़ी ।
सारी विपदा हर लेते हो लगे न तुम को इक घड़ी ,
इक टक  सारे देख रहे है पार्वती जी साथ खड़े है ।।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here