धरती सुनहरी अंबर नीला लिरिक्स | Dharti Sunehri Ambar Neela Lyrics

देशभक्ति गीतधरती सुनहरी अंबर नीला लिरिक्स | Dharti Sunehri Ambar Neela Lyrics” लता मंगेशकर जी और उदित नारायण जी के द्वारा गाया हुआ है।


धरती सुनहरी अंबर नीला लिरिक्स

धरती सुनहरी अंबर नीला,
हर मौसम रंगीला,
ऐसा देश है मेरा,
हाँ ऐसा देश है मेरा,
बोले पपीहा कोयल गाये,
सावन घिर घिर आये,
ऐसा देश है मेरा,
हाँ ऐसा देश है मेरा।।

गेंहू के खेतों में,
कंघी जो करे हवाएं,
रंग बिरंगी कितनी,
चुनरियाँ उड़-उड़ जाएं,
पनघट पर पनिहारन,
जब गगरी भरने आये,
मधुर मधुर तानों में,
कहीं बंसी कोई बजाए,
तो सुन लो,
क़दम-क़दम पे है मिल जानी हो ओ,
क़दम-क़दम पे है मिल जानी,
कोई प्रेम कहानी,
ऐसा देश है मेरा,
हो ऐसा देश है मेरा।।

बाप के कंधे चढ़ के,
जहाँ बच्चे देखे मेले,
मेलों में नट के तमाशे,
कुल्फ़ी के चाट के ठेले,
कहीं मिलती मीठी गोली,
कहीं चूरन की है पुड़िया,
भोले-भोले बच्चे हैं,
जैसे गुड्डे और गुड़िया,
इनको रोज़ सुनाये दादी नानी,
इनको रोज़ सुनाये दादी नानी हो ओ,
इक परियों की कहानी,
ऐसा देश है मेरा,
हाँ ऐसा देश है मेरा।।

मेरे देश में मेहमानों को,
भगवान कहा जाता है,
वो यहीं का हो जाता है,
जो कहीं से भी आता है,
तेरे देश को मैंने देखा,
तेरे देश को मैंने जाना,
जाने क्यूँ ये लगता है,
मुझको जाना पहचाना,
यहाँ भी वही शाम है वही सवेरा हो ओ,
यहाँ भी वही शाम है वही सवेरा,
ऐसा ही देश है मेरा,
जैसा देश है तेरा,
हाँ ऐसा देश है मेरा,
हो ऐसा देश है मेरा।।

धरती सुनहरी अंबर नीला,
हर मौसम रंगीला,
ऐसा देश है मेरा,
हाँ ऐसा देश है मेरा,
बोले पपीहा कोयल गाये,
सावन घिर घिर आये,
ऐसा देश है मेरा,
हाँ ऐसा देश है मेरा।।


Dharti Sunehri Ambar Neela Lyrics

Dharti Sunahari Ambar Neela
Har Mosam Rangeela
Aisa Desh Hai Mera
Haa Aisa Desh Hai Mera
Bole Papiha Koyal Gaaye
Sawan Ghir Ghir Aaye
Aisa Desh Hai Mera
Haa Aisa Desh Hai Mera

Gehun Ke Kheton Me
Kanghi Jo Kare Hawaye
Rang Birangi Kitani
Chunariya Uad Uad Jaaye
Panghat Par Paniharan
Jab Gagari Bharne Aaye
Madhur Madhur Taano Me
Kahi Bansi Koi Bajaye
To Sun Lo…
Kadam Kadam Pe Mil Jani Ho O..
Kadam Kadam Pe Mil Jani Ho
Koi Prem Kahani
Aisa Desh Hai Mera
Ho Aisa Desh Hai Mera

Baap Ke Kandhe Chadh Ke
Jahan Bachche Dekhe Mela
Melo Me Nat Ke Tamashe
Kulfi Ke Chaat Ke Thele
Kahi Milti Mithi Goli
Kahi Churan Ki Hai Pudiya
Bhole Bhole Bachche Hai
Jaise Gudde Aur Gudiya
Inko Roz Sunaye Dadi Nani
Ek Pariyo Ki Kahani
Aisa Desh Hai Mera
Haa Aisa Desh Hai Mera

Mere Desh Ke Mehmano Ko
Bhagwan Kaha Jata Hai
Wo Yahi Ka Ho Jata Hai
Jo Kahi Se Bhi Aata Hai
Tere Desh Ko Mene Dekha
Tere Desh Ko Mene Jana
Jane Kyu Ye Lagta Hai
Mujhko Jana Pahchana
Yaha Bhi Wahi Sham Hai
Wahi Savera Ho O
Aisa Desh Hai Mera
Jaisa Desh Hai Tera
Aisa Desh Hai Mera
Haa Aisa Desh Hai Mera

Dharti Sunahari Ambar Neela
Har Mosam Rangeela
Aisa Desh Hai Mera
Haa Aisa Desh Hai Mera
Bole Papiha Koyal Gaaye
Sawan Ghir Ghir Aaye
Aisa Desh Hai Mera
Haa Aisa Desh Hai Mera

Dharti Sunahari Ambar Nila Deshbhakti Geet Lyric

Dharti Sunehri Ambar Neela PDF


हमें उम्मीद है की देशभक्तो को यह आर्टिकल “धरती सुनहरी अंबर नीला लिरिक्स | Dharti Sunehri Ambar Neela Lyrics” + Video + Audio बहुत पसंद आया होगा। “Dharti Sunehri Ambar Neela Lyrics” के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment

आरती : जय अम्बे गौरी मैया जय श्यामा गौरी