अष्टविनायक मंत्र लिरिक्स | Ashtavinayaka Mantra Lyrics

भगवान गणेश का “अष्टविनायक मंत्र लिरिक्स | Ashtavinayaka Mantra Lyrics” Paul जी के द्वारा गाया हुआ है। इस वंदना में गणेश जी का अपने कारज में आमंत्रित किया जा रहा और उन्हें प्रसन्न किया जा रहा है।


Ashtavinayaka Mantra Lyrics

स्वस्ति श्रीगणनायकं गजमुखं मोरेश्वरं सिद्धिदम् ॥१॥
बल्लाळं मुरुडे विनायकमहं चिन्तामणिं थेवरे ॥२॥
लेण्याद्रौ गिरिजात्मजं सुवरदं विघ्नेश्वरं ओझरे ॥३॥
ग्रामे रांजणनामके गणपतिं कुर्यात् सदा मङ्गलम् ॥४॥

Svasti Shrii-Ganna-Naayakam Gaja-Mukham Moreshvaram Siddhidam ||1||
Ballaallam Murudde Vinaayakam-Aham Cintaamannim Thevare ||2||
Lennyaadrau Girija[a-A]atmajam Suvaradam Vighneshvaram Ojhare ||3||
Graame Raanjanna-Naamake Gannapatim Kuryaat Sadaa Manggalam ||4||

Ashtavinayaka

हमें उम्मीद है की गणेश जी के भक्तो को यह आर्टिकल “अष्टविनायक मंत्र लिरिक्स | Ashtavinayaka Mantra Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment