जाने क्या जादू कर गयो रे लिरिक्स | Jane Kya Jadu Kar Gayo Re Lyrics

कृष्ण भगवान का यह अद्बुध भजन “जाने क्या जादू कर गयो रे लिरिक्स | Jane Kya Jadu Kar Gayo Re Lyrics” संजय पारीक जी के द्वारा गाया हुआ है। भजन के लिरिक्स हिंदी और इंग्लिश में वीडियो के साथ दिए हुए है।


Jane Kya Jadu Kar Gayo Re Lyrics

करुणा भरी पुकार सुन अब तो पधारो मोहना ।
कृष्ण तुम्हारे द्वार पर आया हूँ मैं अति दीन हूँ ।।

करुणा भरी निगाह से अब तो पधारो मोहना ।।

कानन कुण्डल शीश मुकुट गले बैजंती माल हो ।
सांवरी सूरत मोहिनी अब तो दिखा दो मोहना ।।

पापी हूँ अभागी हूँ दरस का भिखारी हूँ ।
भवसागर से पार कर अब तो उबारो मोहना ।।

दर्शन दो घन्श्याम नाथ मोरी अँखियाँ प्यासी रे ।।

मंदिर मंदिर मूरत तेरी फिर भी न दीखे सूरत तेरी ।
युग बीते ना आई मिलन की पूरनमासी रे ।।

दर्शन दो घन्श्याम नाथ मोरि अँखियाँ प्यासी रे ।।

द्वार दया का जब तू खोले पंचम सुर में गूंगा बोले ।
अंधा देखे लंगड़ा चल कर पँहुचे काशी रे ।।

दर्शन दो घन्श्याम नाथ मोरि अँखियाँ प्यासी रे ।।

पानी पी कर प्यास बुझाऊँ नैनन को कैसे समजाऊँ ।
आँख मिचौली छोड़ो अब तो घट घट वासी रे ।।

दर्शन दो घन्श्याम नाथ मोरि अँखियाँ प्यासी रे ।।

Jane Kya Jadu Kar Gayo Re Lyrics

हमें उम्मीद है की श्री कृष्ण के भक्तो को यह आर्टिकल “जाने क्या जादू कर गयो रे लिरिक्स | Jane Kya Jadu Kar Gayo Re Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “ Jane Kya Jadu Kar Gayo Re Lyrics ” भजन के आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment