​हम तेरे शहर में आए हैं मुसाफिर की तरह भजन लिरिक्स | Hum Tere Shahar Me Aaye Hai Musafir Ki Terha Lyrics

भजन “​हम तेरे शहर में आए हैं मुसाफिर की तरह भजन लिरिक्स | Hum Tere Shahar Me Aaye Hai Musafir Ki Terha Lyrics” पूनम दीदी जी का गाया हुआ भजन है। आरती के लिरिक्स हिंदी और इंग्लिश में वीडियो के साथ दिए हुए है।

https://youtube.com/watch?v=N51mWzz7daE

Hum Tere Shahar Me Aaye Hai Musafir Ki Terha Lyrics

​हम तेरे शहर में आए हैं मुसाफिर की तरह,
सिर्फ़ इक बार मुलाक़ात का मौका दे दे।।

मेरी मंजिल है कहाँ मेरा ठिकाना है कहाँ,
सुबह तक तुझसे बिछड़ कर मुझे जाना है कहाँ,
सोचने के लिए इक रात का मौका दे दे,
​हम तेरे शहर में आए है मुसाफिर की तरह,
सिर्फ़ इक बार मुलाक़ात का मौका दे दे।।

अपनी आंखों में छुपा रक्खे हैं जुगनू मैंने,
अपनी पलकों पे सजा रक्खे हैं आंसू मैंने,
मेरी आंखों को भी बरसात का मौका दे दे,
​हम तेरे शहर में आए है मुसाफिर की तरह,
सिर्फ़ इक बार मुलाक़ात का मौका दे दे।।

आज की रात मेरा दर्द-ऐ-मोहब्बत सुन ले,
कंप-कंपाते हुए होठों की शिकायत सुन ले,
आज इज़हार-ऐ-खयालात का मौका दे दे,
​हम तेरे शहर में आए है मुसाफिर की तरह,
सिर्फ़ इक बार मुलाक़ात का मौका दे दे।।

भूलना ही था तो ये इकरार किया ही क्यूँ था,
बेवफा तुने मुझे प्यार किया ही क्यूँ था,
सिर्फ़ दो चार सवालात का मौका दे दे,
​हम तेरे शहर में आए है मुसाफिर की तरह,
सिर्फ़ इक बार मुलाक़ात का मौका दे दे।।

​हम तेरे शहर में आए हैं मुसाफिर की तरह,
सिर्फ़ इक बार मुलाक़ात का मौका दे दे।।

Hum Tere Shahar Me Aaye Hai Musafir Ki Terha Lyrics

हमें उम्मीद है की भक्तो को यह आर्टिकल “​हम तेरे शहर में आए हैं मुसाफिर की तरह भजन लिरिक्स | Hum Tere Shahar Me Aaye Hai Musafir Ki Terha Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “ Hum Tere Shahar Me Aaye Hai Musafir Ki Terha Lyrics ” भजन के आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here