shri shiv stuti Header

भाव नहीं तो कुछ भी नहीं है लिरिक्स | Bhav Nahi To Kuch Bhi Nahi Lyrics

मर्यादा पुरषोत्तम श्री राम का अति पावन भजन “भाव नहीं तो कुछ भी नहीं है लिरिक्स | Bhav Nahi To Kuch Bhi Nahi Lyrics” – रवि राज जी के द्वारा गाया गया है। इस भजन में राम भक्ति की महिमा का बखान किया गया है।


Bhav Nahi To Kuch Bhi Nahi Lyrics

भाव के भूखे हैं भगवान ।
भाव नहीं तो कुछ भी नहीं है ।।
लाख करो गुणगान….

एक थी शबरी भक्तन,
न्योछावर करके तनमन ।
मतंग मुनि के संग में,
करती थी प्रभु का कीर्तन ।।

बागो से चुन चुन लाती,
प्रभु को फुल चढ़ाती ।
गंगा के पावन जल से,
रोज स्नान कराती ।।

चरण धोके श्री राम का करती,
चरनामृत का पान ।
भाव के भूखे हैं भगवान,
भाव नहीं तो कुछ भी नहीं है ।।

मतंग शबरी को बताये,
बहु भांति समझाए ।
सबर कर कुछ दिन शबरी,
मिलन के दिन अब आये ।।

रामजी तुमसे मिलेंगे,
मेरी कुटिया में आ कर ।
शबरी को धैर्य बंधाकर,
समाधी लिए गुरुवर ।।

राम नाम में लीन हो गयी,
गुरु से पाकर ज्ञान ।
भाव के भूखे हैं भगवान,
भाव नहीं तो कुछ भी नहीं है ।।

Bhav Nahi To Kuch Bhi Nahi Lyrics

Bhav Nahi To Kuch Bhi Nahi Lyrics PDF


हमें उम्मीद है की श्री राम के भक्तो को यह आर्टिकल “भाव नहीं तो कुछ भी नहीं है लिरिक्स | Bhav Nahi To Kuch Bhi Nahi Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “Bhav Nahi To Kuch Bhi Nahi Lyrics” भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment