shri shiv stuti Header

भगवान आस लगाए कब से लिरिक्स | Bhagwan Aas Lagaye Kab Se Lyrics

पवन पुत्र हनुमान जी का अति पावन भजन “भगवान आस लगाए कब से लिरिक्स | Bhagwan Aas Lagaye Kab Se Lyrics” – ओमप्रकाश जी बताया गया है।


Bhagwan Aas Lagaye Kab Se Lyrics

भगवन आस लगाए कब से,
देखो बाट निहारे है ।
फँसी है बीच भँवर नैया,
भगवान तुमको पुकारे हैं ।।

दर दर ठोकर मैंने खाई,
दर दर जाकर ज्योत जलाई ।
अब तो सुन लो मेरी पुकार,
भगवन बाट निहारे है ।।

भगवन बाट निहारे है,
भगवन आस लगाए कब से ।
देखो बाट निहारे हैं ।।

मैं पापी मुझे देदो सहारा,
दूर बसनो से देदो किनारा ।
भगवन आस लगाए कब से,
देखो बाट निहारे हैं ।।

अब तो सुन लो मेरी पुकार,
देखो बाट निहारे हैं ।
भगवन आस लगाए कब से,
देखो बाट निहारे हैं ।।

भगवान आस लगाए कब से,
भगवन आस लगाए कब से ।
देखो बाट निहारे है,
फँसी है बीच भँवर नैया ।।

राम भजनदुर्गा भजनविष्णु भजनआरती
शिव भजनश्याम भजनगणेश भजनचालीसा
कृष्ण भजनहनुमान भजनसाईं भजनस्तुति
गुरु भजनशनि भजनदेशभक्तिस्तोत्र
लक्ष्मी भजनराधा भजनजैन भजनमीरा
Bhagwan Aas Lagaye Kab Se Lyrics

हमें उम्मीद है की श्री राम के भक्त हनुमान जी ये भजन का यह आर्टिकल “भगवान आस लगाए कब से लिरिक्स | Bhagwan Aas Lagaye Kab Se Lyrics” + Video + Audio बहुत पसंद आया होगा। “Bhagwan Aas Lagaye Kab Se Lyrics” भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment