shri shiv stuti Header

अमर कथा लिरिक्स | Amar Katha Lyrics

भगवान शिव का यह मनमोहक और अद्बुध शिव भजन “अमर कथा लिरिक्स | Amar Katha Lyrics” जिसको Durga Das द्वारा गाया गया है। भजन का लिरिक्स, वीडियो और ऑडियो के साथ दिया गया है।

Amar Katha Video

अमर कथा लिरिक्स
Amar Katha Lyrics

कथा सुना रहे पार्वती को शिव शंकर भगवान,
सुनते सुनते अमर कथा को बंद हो गए कान,
उमा को पड गयो सोता हुँकरा भर रह्यो तोता

मचल उठी थी गौरा शिवशंकर से बतराई,
अमर कथा कह देओ नारद ने याद दिलाई,
अमरकथा के सुनते ही कट जाएँ पाप भगवान,
कर्म कोई बन गया खोटा उमा को पड गयो सोता..

इतनी सुन शिवशंकर गौरा को लगे मनाने,
सुन लेओ चित लाई शिव लागे कथा सुनाने,
करवायो संकल्प उमा पे बैठे आसान मार ,
जल को भर लीनो लौटा उमा को पड गयो सोता..

अमर कथा पूर्ण हुई शिवजी ने पूछा ऐसे,
पार्वती अब कहदेओ ये अमरकथा सुनी कैसे,
देखा जो शिवजी ने मुडके वो तो सो रही नींद में आए,
नींद में ले रही झोटा उमा को पड गयो सोता..

सोच उठे थे शिवजी ये हुँकरा कौन भरा था,
देखा और ना कोई बस एक तोता बैठा था,
प्रेम मगन हो कथा सुन लीनी लीयो जीवन सफल बनाय,
गदगद है रह्यो तोता उमा को पड गया सोता..

क्रोध किया शिवजी ने लिया त्रिशूल उठाई,
उड़ते उड़ते तोता गयो देव लोक में आई,
अब नहीं प्राण बचेंगे मेरे नाराज हुआ भगवन,
सुदबुद भूल्यो तोता उमा को पड गयो सोता..

थी बेदव्यास की नारी छत पे रही केस सुकाई,
जो उसने मुख खोला शुक अंदर गयो समाई,
रुक गया हाथ तुरंत नाथ को कोइ न पार बसाए,
गर्व में पहुँच्यो तोता उमा को पड गया सोता..

क्षमा किया शिवजी ने लीला सब ही पहचानी
बारह बर्ष के बालक शुकदेव भये बडे ज्ञानी,
बहुतेरे उपदेश दिए जी कह गए भागवत सप्ताह
कह गए यही में गीता उमा को पड गयो सोता

तन मन की सुध बिसर गई है लिरिक्स

मन मेरा मंदिर शिव मेरी पूजा लिरिक्स

जो शिव को ध्याते है शिव उनके है लिरिक्स


Shiv Gatha Lyrics In Hindi

Katha Suna Rahe Parvati Ko
Shiv Shankar Bhagwan
Sunte Sunte Amar Katha Ko
Band Ho Gaye Kaan
Uma Ko Pad Gayo Sota
Hunkara Bhar Rahyo Tota

Machal Uthi Thi Gaura
Shivshankar Ne Bartaai
Amar Katha Kah Deo
Naarad Ne Yaad Dilai

Amarkatha Ke Sunte Hi
Kat Jaaye Paap Bhagwan
Karam Koi Ban Gaya Khota
Uma Ko Pad Gayo Sota…

Itni Sun Shivshankar
Gaura Ko Lage Manane
Sun Leo Chit Laai
Shiv Laage Katha Sunane

Karwayo Sankalp Uma Pe
Baithe Aasan Maar
Jal Ko Bhar Lino
Uma Ko Pad Gayo Sota…

Amar Katha Puran Hui
Shivji Ne Puha Aise
Parvati Ab Kahdeoye
Amarkatha Suni Kaise

Dekha Jo Shivji Ne Mudhkar
Wo To So Rahi Nind Me Aaye
Nind Me Le Rahi Jhota
Uma Ko Pad Gayo Sota…

Soch Uthe The Shivji
Ye Hunkara Kon Bhara Tha
Dekha Aur Na Koi
Bas Ek Toota Baitha Tha

Prem Magan Ho Katha Sun Lini
Liyo Jeevan Safal Banay
Gadgad Ho Rahyo Toota
Uma Ko Pad Gayo Sota…

Krodh Kiya Shivji Ne
Liya Trishool Uthai
Udte Udte Toota Gayo
Dev Lok Me Aai

Ab Nahi Praan Bachenge
Mere Naaraj Hua Bhagwan
Sudhbudh Bhuyo Toota
Uma Ko Pad Gayo Sota…

Thi Vaidvyas Ki Naari
Chhat Pe Rahi Kaish Sukhay
Jo Usne Mukh Khola
Suk Andar Gayo Samai

Ruk Gaya Haath Turant
Naath Ko Koi Na Par Basay
Grav Me Phuchyo Toota
Uma Ko Pad Gayo Sota…

Kshma Kiya Shivji Ne
Leela Sab Pehchani
Barah Barash Ke Balak
Sukdev Bhaye Bade Gyani

Bahutere Updesh Diye Ji
Kah Gaye Bhagwat Saptaah
Kah Gaye Yahi Me Geeta
Uma Ko Pad Gayo Sota…

हर जन्म में बाबा तेरा साथ चाहिए लिरिक्स

ओ बम भोले मै कशी नगरी आई हूँ

उज्जैन के राजा कभी कृपा नजरिया

Amar Katha Lyrics


हमें उम्मीद है की भगवान शिव के भक्तो को यह आर्टिकल “अमर कथा लिरिक्स | Amar Katha Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment