आदमी मुसाफिर है आता है जाता है भजन | Aadmi Musafir Hai Aata Hai Jata Hai Lyrics

आदमी मुसाफिर है आता है जाता है भजन | Aadmi Musafir Hai Aata Hai Jata Hai Lyrics


Aadmi Musafir Hai Aata Hai Jata Hai Lyrics

आदमी मुसाफिर है आता है जाता है
आते जाते रस्ते में यादे छोड़ जाता है

झोका हवा का पानी का रेला
मेले में रह जाये जो अकेला
फिर वो अकेला ही रह जाता है
आदमी मुसाफिर है आता है जाता है
आते जाते रस्ते में यादे छोड़ जाता है

कब छोड़ता है ये रोग जी को
दिल भूल जाता है जब किसी को
वो भूलकर भी याद आता है
आदमी मुसाफिर है आता है जाता है
आते जाते रस्ते में यादे छोड़ जाता है

Aadmi Musafir Hai Aata Hai Jata Hai Lyrics

हमें उम्मीद है की श्री कृष्ण के भक्तो को यह आर्टिकल आदमी मुसाफिर है आता है जाता है भजन | Aadmi Musafir Hai Aata Hai Jata Hai Lyrics + Video + Audio बहुत पसंद आया होगा। आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये। आप अपनी फरमाइश भी हमे कमेंट करके बता सकते है। हम वो भजन, आरती आदि जल्द से जल्द लाने को कोशिश करेंगे।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here