सोनू निगम : बुद्धा ही बुद्धा है लिरिक्स | Sonu Nigam Buddha Hi Buddha Hai Lyrics

भगवान बुद्ध की वंदना “सोनू निगम : बुद्धा ही बुद्धा है लिरिक्स | Sonu Nigam Buddha Hi Buddha Hai Lyrics” सोनू निगम जी के द्वारा गाया हुआ है।


बुद्धा ही बुद्धा है लिरिक्स

ये च बुद्धा अतीता च
ये च बुद्धा अनागता
पच्चुपन्ना च ये बुद्धा
अहं वन्दामि सब्बदा

बुद्ध ही बुद्ध है,
बुद्ध ही बुद्ध है
हर जगह, हर समय
वो सिद्ध है वो सिद्ध है

मन मे तुम्हारे बसता वो गुणवान है
सम्यक शिक्षा से करता जो शीलवान है
अहिंसा की ताकत से जो बलवान है
वो बुद्ध है, वो बुद्ध है

स्वयं पर तू स्वयं ध्यान कर
हलचल, ह्रदय की स्पन्दनो को जान कर
नित्य नियंत्रण से खुदकी पहचान कर
पायेगा जब तू विजय स्वार्थ पर
विकृती पर तू निरंतर मात कर
दृढ निश्चय से जब चित्त तेरा शुद्ध है
तू बुद्ध है, तू बुद्ध है

परिवर्तन ही है ये जीवन का नियम
क्यो न हो ये धर्म का भी अधिनियम,
मैत्री प्रग्या शील हो जिसमे
सदैव तन मन पर संयम

कर पूजा सदगुणोंकी ए नादान
ईश्वर क्या बने, तू पहले बन इन्सान
कर्मकांडोसे नही मिलता भगवान
चमत्कार नही दुनिया मे तू मान

मानव सेवा हि तुझसे नितीबद्ध है
तू बुद्ध है, तू बुद्ध है

जब चले हिंसा हि आंधी
निर्लज्ज उठाये पापो का तुफान
ले चला जगत को विनाश के पथ पर
बेधुंद अहंकारी बना इन्सान

देखो उसे ढुंढो उसे पाओ उसे
अंतर्मनमें, जन-मन-तन मे
दीपक शांती का, करूणा का वो सागर
प्रग्या कि जो मूर्ती, दिव्य भाग्यशील नगर

देखो उसे ढुंढो उसे पाओ उसे
इस जगत का, इस धरा का वो मार्गदाता श्रेष्ठ है

इस जगत का, इस धरा का मार्गदाता श्रेष्ठ है
वो बुद्ध है, वो बुद्ध है

बुद्ध ही बुद्ध है, बुद्ध ही बुद्ध है
हर जगह, हर समय वो सिद्ध है वो सिद्ध है


Sonu Nigam Buddha Hi Buddha Hai Lyrics

Ye Cha Buddha Atiita Cha
Ye Cha Buddha Anagata
Pachchupana Cha Ye Buddha
Ahang Vandamni Sabbada

Buddha Hi Buddha Hai,
Buddha Hi Buddha Hai
Har Jagah, Har Samay
Vo Siddh Hai Vo Siddh Hai

Man Me Tumhaare Basata
Vo Gunavaan Hai
Samyak Shiksha Se Karta
Jo Sheelvaan Hai

Ahinsa Kee Taakat Se
Jo Balavaan Hai
Vo Buddha Hai
Vo Buddha Hai

Svayam Par Tu
Svayam Dhyaan Kar
Halachal Hreeday Ki
Spandaano Ko Jaan Kar
Nitya Niyantaran Se
Khudki Pehchan Kar
Payega Jab Tu
Vijay Svarth Par
Vikrti Par Tu
Nirantar Maat Kar
Dredh Nishchay Se Jab
Chitt Tera Shuddh Hai,
Tu Buddha Hai
Tu Buddha Hai

Parivartan Hi Hai Ye
Jeevan Ka Niyam
Kyo Na Ho Ye
Dharam Ka Bhee Adhiniyam
Maitri Pragyasheel Ho Jisme
Sadaiv Tan Man Par Sanyam
Kar Pooja Sadguno Ki Ae Nadaan
Ishvar Kya Bane
Tu Pahle Ban Insaan
Karmkaando Se Nahi
Milta Bhagwan
Chamatkaar Nahi
Duniya Me Tu Maan
Maanav Seva Hi
Tujhse Nitibaddh Hai
Tu Buddha Hai
Tu Buddha Hai

Jab Chale Hinsa Hi Aandhi
Nirlajj Uthaye Paapo Ka Tufaan
Le Chala Jagat Ko
Vinash Ke Path Par
Bedhund Ahankari Bana Insaan
Dekho Use Dhundo Use Pao Use
Antar Man Me, Jan Man Tan Me
Deepak Shaantee Ka
Karoona Ka Vo Sagar
Pragya Ki Jo Murti
Divya Bhagyasheel Nagar
Dekho Use Dhoondo Use Pao Use
Yas Jagaat Ka
Is Dhaara Ka
Vo Margdaata Shreshth Hai

Yas Jagaat Ka
Is Dhara Ka Vo
Margadaata Shreshth Hai
Vo Buddha Hai
Vo Buddha Hai

Buddha Hi Buddha Hai
Buddha Hi Buddha Hai
Har Jagah
Har Samay Vo Siddh Hai
Vo Siddh Hai

Sonu Nigam Buddha Hi Buddha Hai Lyrics

Sonu Nigam Buddha Hi Buddha Hai Lyrics PDF


हमें उम्मीद है की भगवान् बुद्ध के भक्तो को यह आर्टिकल “सोनू निगम : बुद्धा ही बुद्धा है लिरिक्स | Sonu Nigam Buddha Hi Buddha Hai Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “Sonu Nigam Buddha Hi Buddha Hai Lyrics” के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment

आरती : जय अम्बे गौरी मैया जय श्यामा गौरी