shri shiv stuti Header

Thali Bhar Ke Layi Re Khichdo Upar Ghi Ki Baatki Lyrics

कृष्ण भगवान का यह अद्बुध भजन “Thali Bhar Ke Layi Re Khichdo Upar Ghi Ki Baatki Lyrics” सरिता ओझा जी का गाया हुआ है। इस भजन में बताया गया है की भक्तो को श्याम की सभी बाते कितनी प्यारी लगती है। 


Thali Bhar Ke Layi Re Khichdo Upar Ghi Ki Baatki Lyrics

थाली भरकर लायी रे खीचड़ो, उपर घी की बाटकी,
जीमो म्हारा श्याम धणी, जिमावै बेटी जाट की।।

बापू म्हारो गांव गवेलो, ना जाणे कद आवैलो,
ऊका भरोसे बैठयो रहयो तो, भूखो ही रह जावैलो,
आज जिमाऊं तैने रे खीचड़ो, काल राबड़ी छाछ की,
जीमो म्हारा श्याम धणी, जिमावै बेटी जाट की।।

बार बार मंदिर ने जुड़ती, बार बार में खोलती,
कर्इया कोनी जीमे रे मोहन, करडी करड़ी बोलती,
तू जीमे तो जद मैं जिमूं, मानू ना कोर्इ लाट की,
जीमो म्हारो श्याम धणी, जिमावै बेटी जाटी की,
जीमो म्हारा श्याम धणी, जिमावै बेटी जाट की।।

परदो भूल गर्इ सांवरियो, परदो फेर लगायो जी,
धावलियो परदो की ओट बैठ के, श्याम खीचड़ौ खायो जी,
भोला भाला भगता सू, सांवरिया कइया आंट की।
जीमो म्हारा श्याम धणी, जिमावै बेटी जाट की।।

भक्ति हो तो करमा जैसी, सावरियों घर आवेलो,
सोहन लाल लोहकार, हरष हरष गुण गावेलो,
चो प्रेम प्रभु से हो तो, मूरत बोले काठ की,
जीमो म्हारा श्याम धणी, जिमावै बेटी जाट की।।

थाली भरकर लायी रे खीचड़ो, उपर घी की बाटकी,
जीमो म्हारा श्याम धणी, जिमावै बेटी जाट की।।

Thali Bhar Ke Layi Re Khichdo Upar Ghi Ki Baatki Lyrics

हमें उम्मीद है की श्री कृष्ण के भक्तो को यह आर्टिकल “Thali Bhar Ke Layi Re Khichdo Upar Ghi Ki Baatki Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “Thali Bhar Ke Layi Re Khichdo Upar Ghi Ki Baatki Lyrics” भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment