अजब है भोले नाथ ये दरबार तुम्हारा लिरिक्स | Ajab Hai Bhole Nath Ye Darbar Tumhara Lyrics

भगवान शिव का भजन “अजब है भोले नाथ ये दरबार तुम्हारा लिरिक्स | Ajab Hai Bhole Nath Ye Darbar Tumhara Lyrics” धीरजकांत जी के द्वारा गाया हुआ है। भजन के लिरिक्स हिंदी और इंग्लिश में वीडियो के साथ दिए हुए है।


Ajab Hai Bhole Nath Ye Darbar Tumhara Lyrics

अजब है भोले नाथ ये दरबार तुम्हारा
भूत प्रेत नित करे चाकरी सबका यहा गुजारा
अजब है भोले नाथ ये दरबार तुम्हारा

बाघ बैल को हरदम एक जगह पे आके  
कभी ना एक दूजे को बुरी नज़र से ताके
कहीं और नहीं देखा हमने ऐसा गजब नज़रा
अजब है भोले नाथ ये दरबार तुम्हारा

गणपति राखे चूहा कभी सर्प नहीं छूआ
भोले सर्प लटकाये कार्तिक मोर नचाये
आज का काम नहीं है तेरा अनुशाषित  है सारा  
अजब है भोले नाथ ये दरबार तुम्हारा

Ajab Hai Bhole Nath Ye Darbar Tumhara Lyrics

हमें उम्मीद है की भगवान शिव के भक्तो को यह आर्टिकल “अजब है भोले नाथ ये दरबार तुम्हारा लिरिक्स | Ajab Hai Bhole Nath Ye Darbar Tumhara Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “ Ajab Hai Bhole Nath Ye Darbar Tumhara Lyrics ” भजन के आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here