shri shiv stuti Header

बुद्धम शरणम गच्छामि लिरिक्स | Lyrics Of Buddham Saranam Gacchami

भगवान बुद्ध की वंदना “बुद्धम शरणम गच्छामि लिरिक्स | Lyrics Of Buddham Saranam Gacchami” हरिहरण जी के द्वारा गाया हुआ है।


बुद्धम शरणम गच्छामि लिरिक्स

जब दुःख की घड़ियाँ आये
सच पर झूठ विजय पाए
इस निर्मल पावन मन पर
जब कलंक के घन छाये

अन्याय की आंधी से
कान उठे जब तेरे दोल
तब मानव तो मुख से बोल
बुद्धम शरणम गच्छामि

तब मानव तो मुख से बोल
बुद्धम शरणम गच्छामि
धम्मं शरणम गच्छामि
सघं शरणम गच्छामि.

जब दुनिया से प्यार उठे
नफ़रत की दीवार उठे
माँ की ममता पर जिस दिन
बेटे की तलवार उठे

धरती की काया काँपे
अम्बार डगमग उठे दोल
तब मानव तू मुख से बोल
बुद्धम शरणम गच्छामि

तब मानव तू मुख से बोल
बुद्धम शरणम गच्छामि

दूर किया जिस ने जनजान के
व्याकुल मन का अँधियारा
जिसकी एक किरण को छूकर
चमक उठा ये जग सारा

दिप सत्य का सदा जले
दया अहिंसा सदा पहले
सुख शांति की छाया में
जन गण मन का प्रेम पले

भारत के भगवान
बुद्धा का गूँजे
घर घर मात्र अमोल
हे मानव नित् मुख से बोल

बुद्धम शरणम गच्छामि
हे मानव नित् मुख से बोल
बुद्धम शरणम गच्छामि

रूठ गया जब सुन ने वाला
किस से करूँ पुकार
प्यार कहाँ पहचान सका ये
ये निर्दय संसार.

निर्दयता जब ले ले धाम
दया हुई हो अन्तर्ध्यान
जब ये छोटा सा इंसान
भूल रहा अपना भगवान

सत्य तेरा जब घबराए
श्रद्धा हो जब डावांडोल
तब मानव तू मुख से बोल
बुद्धम शरणम गच्छामि

तब मानव तू मुख से बोल
बुद्धम शरणम गच्छामि


Lyrics Of Buddham Saranam Gacchami

Jab Dukh Ki Ghadiya Aaye
Sach Par Jhuth Vijay Paae
Is Nirmal Paavan Man Par
Jab Kalank Ke Ghan Chhaaye

Anyaay Ki Aandhi Se
Kaan Uthe Jab Tere Dol
Tab Manav To Mukh Se Bol
Buddham Saranam Gacchami

Tab Manav To Mukh Se Bol
Buddham Saranam Gacchami
Dhammam Saranam Gachchhaami
Sagham Saranam Gachchhaami

Jab Duniya Se Pyaar Uthe
Nafarat Ki Divaar Uthe
Maa Ki Mamta Par Jis Din
Bete Ki Talawaar Uthe

Dharati Ki Kaayaa Kaanpe
Ambar Dagamag Uthe Dol
Tab Manav Tu Mukh Se Bol
Buddham Saranam Gacchami

Tab Manav Tu Mukh Se Bol
Buddham Saranam Gacchami

Dur Kiyaa Jis Ne Janjan Ke
Vyaakul Man Kaa Andhiyara
Jisaki Ek Kiran Ko Chhukar
Chamak Uthaa Ye Jag Sara

Dip Satya Kaa Sada Jale
Dayaa Ahinsaa Sada Phale
Sukh Shaati Ki Chhaya Me
Jan Gan Man Kaa Prem Pale

Bhaarat Ke Bhagawaan
Buddha Kaa Gunje
Ghar Ghar Matr Amol
He Manav Nit Mukh Se Bol

Buddham Saranam Gacchami
He Manav Nit Mukh Se Bol
Buddham Saranam Gacchami

Ruth Gayaa Jab Sun Ne Wala
Kis Se Karun Pukaar
Pyaar Kahaan Pahachaan Saka Ye
Ye Nirday Sansaar

Nirdayataa Jab Le Le Dhaam
Daya Hui Ho Antardhyaan
Jab Ye Chhotaa Saa Insaan
Bhul Rahaa Apna Bhagavaan

Satya Teraa Jab Ghabraye
Shradha Ho Jab Daanvadol
Tab Manav Tu Mukh Se Bol
Buddham Saranam Gacchami

Tab Manav Tu Mukh Se Bol
Buddham Saranam Gacchami

Lyrics Of Buddham Saranam Gacchami

Buddham Saranam Gacchami Lyrics PDF


हमें उम्मीद है की भगवान् बुद्ध के भक्तो को यह आर्टिकल “बुद्धम शरणम गच्छामि लिरिक्स | Lyrics Of Buddham Saranam Gacchami” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “Buddham Saranam Gacchami Lyrics | Lyrics Of Buddham Saranam Gacchami” के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment