श्याम सुन्दर और कब तक चुप रहे लिरिक्स | Shyam Sunder Aur Kab Tak Chup Rahe Lyrics

कृष्ण भगवान का यह अद्बुध भजन “श्याम सुन्दर और कब तक चुप रहे लिरिक्स | Shyam Sunder Aur Kab Tak Chup Rahe Lyrics” संजय मित्तल जी के द्वारा गाया हुआ है। भजन के लिरिक्स हिंदी और इंग्लिश में वीडियो के साथ दिए हुए है।


Shyam Sunder Aur Kab Tak Chup Rahe Lyrics

श्याम सुन्दर और कब तक चुप रहे,
हो इजाजत आपकी तो कुछ कहे ।
श्याम सुन्दर और कब तक चुप रहे ।।

जिंदगी दुःख दर्द से बेहाल है,
जिंदगी दुःख दर्द से बेहाल है ।
तुम ही सोचो और कितने गम सहे,
हो इजाजत आपकी तो कुछ कहे ।।

श्याम सुन्दर और कब तक चुप रहे ।।

नांव हिचकोले नहीं सह पाएगी,
नांव हिचकोले नहीं सह पाएगी ।
गहरी नदिया जोर से धारा बहे,
हो इजाजत आपकी तो कुछ कहे ।।

श्याम सुन्दर और कब तक चुप रहे ।।

आपको मालूम है मजबूरियां,
आपको मालूम है मजबूरियां ।
दिल की बाते आपको अब क्या कहे,
हो इजाजत आपकी तो कुछ कहे ।।

श्याम सुन्दर और कब तक चुप रहे ।।

नाव छोड़ी आपके विश्वास पर,
नाव छोड़ी आपके विश्वास पर ।
बनवारी मझधार में ही रह गए,
हो इजाजत आपकी तो कुछ कहे ।।

श्याम सुन्दर और कब तक चुप रहे ।।

श्याम सुन्दर और कब तक चुप रहे ।
हो इजाजत आपकी तो कुछ कहे ।।

श्याम सुन्दर और कब तक चुप रहे ।।


हमें उम्मीद है की श्री कृष्ण के भक्तो को यह आर्टिकल “श्याम सुन्दर और कब तक चुप रहे लिरिक्स | Shyam Sunder Aur Kab Tak Chup Rahe Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “Shyam Sunder Aur Kab Tak Chup Rahe Lyrics” भजन के आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment

आरती : जय अम्बे गौरी मैया जय श्यामा गौरी