shri shiv stuti Header

शोधिसी मानवा राऊळी मंदिरी लिरिक्स | Shodhisi Manava Rauli Mandiri Lyrics

मराठी भजन “शोधिसी मानवा राऊळी मंदिरी लिरिक्स | Shodhisi Manava Rauli Mandiri Lyrics” – मोहम्मद रफ़ी जी के द्वारा गाया गया है। इस भजन के लिरिक्स, वीडियो के साथ निचे दिए गए है।


Shodhisi Manava Rauli Mandiri Lyrics

शोधिसी मानवा, राऊळी मंदिरी ।
नांदतो देव हा, आपुल्या अंतरी ।।

मेघ हे दाटती, कोठुनी अंबरी ,
सूर येती कसे, वाजते बासरी ।
रोमरोमी फुले, तीर्थ हे भूवरी,
दूर इंद्रायणी, दूर ती पंढरी ।।

गंध का हासतो, पाकळी सारुनी ,
वाहते निर्झरी, प्रेमसंजीवनी ।
भोवताली तुला, साद घाली कुणी,
खूण घे जाणुनी, रूप हे ईश्वरी ।।

भेटतो देव का, पूजनी अर्चनी ,
पुण्य का लाभते, दानधर्मातुनी ।
शोध रे दिव्यता, आपुल्या जीवनी,
आंधळा खेळ हा खेळशी कुठवरी ।।

Shodhisi Manava Rauli Mandiri Lyrics

Shodhisi Manava Rauli Mandiri PDF


हमें उम्मीद है की भक्तो को यह मराठी भजन आर्टिकल “शोधिसी मानवा राऊळी मंदिरी लिरिक्स | Shodhisi Manava Rauli Mandiri Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “Shodhisi Manava Rauli Mandiri Lyrics” भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment