shri shiv stuti Header

शीश गंग अर्धांग पार्वती लिरिक्स | Sheesh Gang Ardhang Parvati Lyrics

“जय भोलेनाथ ” – “शीश गंग अर्धांग पार्वती लिरिक्स | Sheesh Gang Ardhang Parvati Lyrics” के गायक Rajendra Jain है। Shiv Ji ke Bhajan हमेसा मन को मंत्रमुग्ध कर देने वाले होते है।

Top 10 Mahashivratri Bhajan | महाशिवरात्रि पर सुने ये कुछ अद्बुध भजन : शिवरात्रि स्पेशल


शीश गंग अर्धांग पार्वती लिरिक्स

शीश गंग अर्धांग पार्वती,
सदा विराजत कैलासी ।
नंदी भृंगी नृत्य करत हैं,
धरत ध्यान सुर सुखरासी ॥

शीतल मन्द सुगन्ध पवन,
बह बैठे हैं शिव अविनाशी ।
करत गान-गन्धर्व सप्त स्वर,
राग रागिनी मधुरासी ॥

यक्ष-रक्ष-भैरव जहँ डोलत,
बोलत हैं वनके वासी ।
कोयल शब्द सुनावत सुन्दर,
भ्रमर करत हैं गुंजा-सी ॥

शिव जी को करे प्रसंन्न : रोज यह सुने/पढ़े

कल्पद्रुम अरु पारिजात तरु,
लाग रहे हैं लक्षासी ।
कामधेनु कोटिन जहँ डोलत,
करत दुग्ध की वर्षा-सी ॥

सूर्यकान्त सम पर्वत शोभित,
चन्द्रकान्त सम हिमराशी ।
नित्य छहों ऋतु रहत सुशोभित,
सेवत सदा प्रकृति दासी ॥

ऋषि मुनि देव दनुज नित सेवत,
गान करत श्रुति गुणराशी ।
ब्रह्मा, विष्णु निहारत निसिदिन,
कछु शिव हमकूँ फरमासी ॥

ऋद्धि-सिद्धि के दाता शंकर,
नित सत् चित् आनन्दराशी ।
जिनके सुमिरत ही कट जाती,
कठिन काल यमकी फांसी ॥

त्रिशूलधरजी का नाम निरन्तर,
प्रेम सहित जो नर गासी ।
दूर होय विपदा उस नर की,
जन्म-जन्म शिवपद पासी ॥

देखे : शिव आराधना का श्रेष्ठ पाठ : शिव रूद्राष्टकम

कैलासी काशी के वासी,
विनाशी मेरी सुध लीजो ।
सेवक जान सदा चरनन को,
अपनो जान कृपा कीजो ॥

तुम तो प्रभुजी सदा दयामय,
अवगुण मेरे सब ढकियो ।
सब अपराध क्षमाकर शंकर,
किंकर की विनती सुनियो ॥

शीश गंग अर्धंग पार्वती,
सदा विराजत कैलासी ।
नंदी भृंगी नृत्य करत हैं,
धरत ध्यान सुर सुखरासी ॥

इस शिव मंत्र से शिव के पुण्य लोक को प्राप्त करे

Sheesh Gang Ardhang Parvati Lyrics

Sheesh Gang Ardhang Parvati Lyrics

Sheesh Gang Ardhang Parvati,
Sada Virajat Kailasi ।
Nandi Bhrngi Nrty Karat Hain,
Dharat Dhyan Sur Sukhrasi ॥

Sheetal Mand Sugandh Pavan,
Bah Baithe Hain Shiv Avinashi ।
Karat Gaan-gandharv Sapt Swar,
Raag Ragini Madhurasi ॥

Yaksh-raksh-bhairav Jahan Dolat,
Bolat Hain Vanke Vasi ।
Koyal Shabd Sunavat Sundar,
Bhramar Karat Hain Gunja-si ॥

शिव जी का सबसे पॉपुलर भजन देखे

Kalpadrum Aru Parijaat Taru,
Laag Rahe Hain Lakshasi ।
Kamadhenu Kotin Jahan Dolat,
Karat Dugdh Ki Varsha-si ॥

Suryakant Sam Parvat Shobhit,
Chandrakant Sam Himrashi ।
Nitya Chhahon Rtu Rahat Sushobhit,
Sevat Sada Prakrti Dasi ॥

Rishi Muni Dev Danuj Nit Sevat,
Gaan Karat Shruti Gunrashi ।
Brahma, Vishnu Niharat Nisidin,
Kachhu Shiv Hamkun Pharmasi ॥

शिव पार्वती विवाह : शिवरात्रि के भजन

Rddhi-siddhi Ke Data Shankar,
Nit Sat Chit Aanandrashi ।
Jinke Sumirat Hi Kat Jati,
Kathin Kaal Yamki Phansi ॥

Trishuldharaji Ka Naam Nirantar,
Prem Sahit Jo Nar Gasi ।
Door Hoy Vipda Us Nar Ki,
Janm-janm Shivpad Paasi ॥

Kailasi Kashi Ke Vasi,
Vinashi Meri Sudh Lijo ।
Sevak Jaan Sada Charanan Ko,
Apno Jaan Kripa Kijo ॥

शिव ताण्डव स्तोत्र

Tum to Prabhuji Sada Dayamay,
Avagun Mere Sab Dhakiyo ।
Sab Apradh Kshamakar Shankar,
Kinkar Ki Vinati Suniyo ॥

Sheesh Gang Ardhang Parvati,
Sada Virajat Kailasi ।
Nandi Bhrngi Nrty Karat Hain,
Dharat Dhyan Sur Sukhrasi ॥

सुने : लागी मेरी तेरे संग लगी मेरे शंकरा लिरिक्स

Shiv Ji Bhajan

हमें उम्मीद है की भगवान शिव के भक्तो को यह आर्टिकल “शीश गंग अर्धांग पार्वती लिरिक्स | Sheesh Gang Ardhang Parvati Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “शीश गंग अर्धांग पार्वती लिरिक्स | Sheesh Gang Ardhang Parvati Lyrics” भजन के आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment