प्रथम तुला वंदितो लिरिक्स | Pratham Tula Vandito Lyrics

भगवान गणेश भक्तो के कष्टों का निदान करने वाली “प्रथम तुला वंदितो लिरिक्स | Pratham Tula Vandito Lyrics” है। इस भजन में गणेश जी का अपने कारज में आमंत्रित किया जा रहा और उन्हें प्रसन्न किया जा रहा है।


प्रथम तुला वंदितो लिरिक्स

प्रथम तुला वंदितो कृपाळा,
गजानना, गणराया

विघ्नविनाशक, गुणिजन पालक,
दुरित तिमिर हारका
सुखकारक तू, दुःख विदारक,
तूच तुझ्यासारखा
वक्रतुंड ब्रम्हांडनायका,
विनायका प्रभुराया

सिद्धिविनायक तूच अनंता,
शिवात्मजा मंगला
सिंदूर वदना, विद्याधिशा,
गणाधिपा वत्सला
तुच ईश्वरा साह्य करावे,
हा भवसिंधु तराया

गजवदना तव रूप मनोहर,
शुक्लांबर शिवसुता
चिन्तामणी तू अष्टविनायक,
सकलांची देवता
रिद्धि सिद्धीच्या वरा दयाळा,
देई कृपेची छाया


Pratham Tula Vandito Lyrics

Pratham Tula Vandito Kripala
Gajanana Ganaraya

Vighanvinashak Gunijan Palak
Durit Timir Haarka
Sukhkarak Tu Dukh Vidarak
Tuch Tujhyasarakha
Vakratund Bramhandnayaka
Vinayaka Prabhuraya

Siddivinayak Tuch Ananta
Shivatmaja Mangala
Sindoor Vandana, Vidhyadhisha
Ganadhipa Vatsala
Tuch Ishwara Sahay Karave
Haa Bhavsindhu Taraya

Jagvandana Tav Roop Manohar
Shuklambar Shivsuta
Chintamani Tu Asthvinayak
Sakalanchi Devta
Riddhi Siddhichya Vara Dayala
Dei Kripechi Chhaya

Pratham Tula Vandito Lyrics

हमें उम्मीद है की गणेश जी के भक्तो को यह आर्टिकल “प्रथम तुला वंदितो लिरिक्स | Pratham Tula Vandito Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “Pratham Tula Vandito Lyrics” के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment