ज़री की पगड़ी बाँधे सुंदर आँखों वाला | Jari Ki Pagdi Bandhe Sundar Aankho Wala

कृष्ण भगवान का यह अद्बुध भजन “ज़री की पगड़ी बाँधे सुंदर आँखों वाला | Jari Ki Pagdi Bandhe Sundar Aankho Wala” देवी चित्रलेखा जी का गाया हुआ है। इस भजन में बताया गया है की भक्तो को श्याम की सभी बाते कितनी प्यारी लगती है। 


Jari Ki Pagdi Bandhe Sundar Aankho Wala

ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा ।
ज़री की पगड़ी बाँधे…

कानों में कुण्डल साजे, सिर मोर मुकुट विराजे,
सखियाँ पगली होती, जब – जब होठों पे बंशी बाजे ।
हैं चंदा यह सांवरा, तारे हैं ग्वाल बाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा ॥

लट घुँघरे बाल, तेरे कारे कारे बाल,
सुन्दर श्याम सलोना तेरी टेडी मेडी चाल ।
हवा में सर – सर करता तेरा पीताम्बर मतवाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा ॥

मुख पे माखन मलता, तू बल घुटने के चलता,
देख यशोदा भाग्य को देवों का मन जलता ।
माथे पे तिलक सोहे आँखों में काज़ल डारा,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा ॥

तू जब बंशी बजाए तब मोर भी नाच दिखाए,
यमुना में लहरें उठती और कोयल भी कू – कू गाए ।
हाथ में कँगन पहने और गल वैजयंती माला,

Jari Ki Pagdi Bandhe Sundar Aankho Wala

हमें उम्मीद है की श्री कृष्ण के भक्तो को यह आर्टिकल “ज़री की पगड़ी बाँधे सुंदर आँखों वाला | Jari Ki Pagdi Bandhe Sundar Aankho Wala” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “Jari Ki Pagdi Bandhe Sundar Aankho Wala” भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here