शिव के प्यारे गणेश लिरिक्स | Shiv Ke Pyare Ganesh Lyrics

भगवान गणेश “शिव के प्यारे गणेश लिरिक्स | Shiv Ke Pyare Ganesh Lyrics” मुकेश कुमार जी के द्वारा गाया हुआ है। इस भजन में गणेश जी का अपने कारज में आमंत्रित किया जा रहा और उन्हें प्रसन्न किया जा रहा है।


Shiv Ke Pyare Ganesh Lyrics

शिव के प्यारे गणेश, काटो विघन कलेश
मेरे अंगना पधारो मैं तर जाऊंगा
इक दया की नजर आप करदो इधर
मेरी बिगड़ी सुधारो मैं तर जाऊंगा

रिद्धि सिद्धि के दाता कहें आपको
ज्ञान बुद्धि ज्ञाता कहें आपको
कर के मूषक सवारी चले आइये
मेरा जीवन सँवारो, मैं तर जाऊंगा

लड्डू मोदक का भोग चढ़ायें तुम्हें
सारे देवों से पहले मनायें तुम्हें
नाम सुमरन करें शीश चरनन धरें
पार भव से उतारो मैं तर जाऊंगा

शिव के प्यारे गणेश, काटो विघन कलेश
मेरे अंगना पधारो मैं तर जाऊंगा
इक दया की नजर आप करदो इधर
मेरी बिगड़ी सुधारो मैं तर जाऊंगा

Shiv Ke Pyare Ganesh Lyrics

हमें उम्मीद है की गणेश जी के भक्तो को यह आर्टिकल “शिव के प्यारे गणेश लिरिक्स | Shiv Ke Pyare Ganesh Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “Shiv Ke Pyare Ganesh Lyrics” के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment