हार की कोई चिंता नहीं लिरिक्स | Haar Ki Koi Chinta Nahi Lyrics

श्याम बाबा का एक अद्बुध भजन “हार की कोई चिंता नहीं लिरिक्स | Haar Ki Koi Chinta Nahi Lyrics” राम कुमार लक्खा जी के द्वारा गाया हुआ है। इनकी भक्ति से श्याम जी की कृपा बनी रहती है। बाबा श्याम अपने भक्तो पर अपना आशीर्वाद बनाये रखते है।


Haar Ki Koi Chinta Nahi Lyrics

हार की कोई चिंता नहीं पग पग होगी जीत,
लगी रे मेरी सांवरिया से प्रीत,
श्याम श्याम को नगमा गाये ये जीवन संगीत,
लगी रे मेरी सांवरिया से प्रीत ।।

मौज से होने लगा गुजारा,
बाबा ने हर काम सवारा,
सन मुख मिलता खड़ा संवारा,
जब जब उसको मन से पुकारा,
देता नहीं विश्वाश टूटने खाटू नरेश की रीत,
लगी रे मेरी सांवरिया से प्रीत ।।

जब जब दुखो से घबराया,
सांवरिया सुध लेने आया,
मोह लोभ जो लगा भरमाने,
मोर छड़ी वाले ने बचाया,
ऐसा किया सँवारे ने जादू सबरा वविषये अतीर,
लगी रे मेरी सांवरिया से प्रीत ।।

सरल श्याम का घर है तुम्हारा,
हाथ पकड़ कर तूने उभारा,
गम के थपेड़ो से डोलती नैया,
बनके खिवैया कन्हैया तूने तारे,
ममता कैसा दुबेगा वो कान्हा जिसका मीत,
लगी रे मेरी सांवरिया से प्रीत ।।

Haar Ki Koi Chinta Nahi Lyrics

हमें उम्मीद है की श्याम जी के भक्तो को यह आर्टिकल “हार की कोई चिंता नहीं लिरिक्स | Haar Ki Koi Chinta Nahi Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “Haar Ki Koi Chinta Nahi Lyrics” भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये। आप अपनी फरमाइश भी हमे कमेंट करके बता सकते है। हम वो भजन, आरती आदि जल्द से जल्द लाने को कोशिश करेंगे।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment