श्री गणेश अष्टक लिरिक्स | Ganesha Ashtakam Lyrics

भगवान गणेश “श्री गणेश अष्टक लिरिक्स | Ganesha Ashtakam Lyrics” रतन मोहन शर्मा जी के द्वारा गाया हुआ है। इस भजन में गणेश जी का अपने कारज में आमंत्रित किया जा रहा और उन्हें प्रसन्न किया जा रहा है।


Ganesha Ashtakam Lyrics In Hindi

शिव पुत्र हे रंभ गणाधीनाथ
गणेश गणनाथ नमो नमस्ते ।।

इति निशा गौरी उठी सयन से
देखा सभी को घेरे है निद्रा,
गाती जगाती गौरी सभी को
गणेश गणनाथ नमो नमस्ते,
शिव पुत्र हे रंभ गणाधीनाथ
गणेश गणनाथ नमो नमस्ते ।।

गौरी उमा गणपति को जगाये
जागो उठो पुत्र सुनयन खोलो,
शिव गण सभी धुंद निनाद करते
गणेश गणनाथ नमो नमस्ते,
शिव पुत्र हे रंभ गणाधीनाथ
गणेश गणनाथ नमो नमस्ते ।।

देखो गजानंद सूरज निकलता
लाली सारा नभ शोभता है,
रंगीन किरणे गाते है पंछी
गणेश गणनाथ नमो नमस्ते,
शिव पुत्र हे रंभ गणाधीनाथ
गणेश गणनाथ नमो नमस्ते ।।

बहती हवाएं तरु झूमते है नर
तन से नटराज प्रसन्न होते,
भक्ते है ताली लय में बजाते
गणेश गणनाथ नमो नमस्ते,
शिव पुत्र हे रंभ गणाधीनाथ
गणेश गणनाथ नमो नमस्ते ।।

धोया उमा ने मुख गणपति का
सोया हुवा लाल खिला कमल सा,
भवरे बने शिव गण गा रहे है
गणेश गणनाथ नमो नमस्ते,
शिव पुत्र हे रंभ गणाधीनाथ
गणेश गणनाथ नमो नमस्ते ।।

शिव ध्यान करती माला पिरोती वो
माँ बुलाती निज लाल को सब,
सखिया सभी सस्वर गीत गाती
गणेश गणनाथ नमो नमस्ते,
शिव पुत्र हे रंभ गणाधीनाथ
गणेश गणनाथ नमो नमस्ते ।।

जागो पुजारी शिव मंदिरो के
करते शिवार्चन फूलो फलो से,
तुम भी चलो विघ्न हरो सभी के
गणेश गणनाथ नमो नमस्ते,
शिव पुत्र हे रंभ गणाधीनाथ
गणेश गणनाथ नमो नमस्ते ।।

ओमकार के सचमुच रूप हो तुम
साकार श्रिष्टि के स्वरूप हो तुम,
बुद्धि प्रदाता धन धान्य दाता
गणेश गणनाथ नमो नमस्ते,
शिव पुत्र हेरंभ गणाधीनाथ
गणेश गणनाथ नमो नमस्ते ।।
शिव पुत्र हे रंभ गणाधीनाथ
गणेश गणनाथ नमो नमस्ते ।।

Ganesha Ashtakam Lyrics

हमें उम्मीद है की गणेश जी के भक्तो को यह आर्टिकल “श्री गणेश अष्टक लिरिक्स | Ganesha Ashtakam Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “Ganesha Ashtakam Lyrics” के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment

आरती : जय अम्बे गौरी मैया जय श्यामा गौरी