गुरु हुंदे रूप रब दा | Guru Hunde Roop Rab Da Bawa Lal Dayal

यह अद्बुध भजन “गुरु हुंदे रूप रब दा | Guru Hunde Roop Rab Da Bawa Lal Dayal” शेर सिंह जी का गाया हुआ है। इस भजन में मन की व्यथा को विस्तार के साथ बताया गया है।


गुरु हुंदे रूप रब दा (बावा लाल जी)

गुरु हुंदे रूप रब दा
ऐना गुरुआ दा मान वधाईये,
गुरु हुंदे रूप रब्ब दा…

मीठी मीठी बानी बोले, सत्गुरु प्यारे जी
गुरुआ दे दर्शन दुखड़े निवारे जी
गुरु नाम वाला जाम पी जाइए,
गुरु रूप हुंदे रूप दा…

गुरु नु ब्रह्मा केहन्दे गुरु नु महेश जी
गुरुआ दे हुंदे सारे सच्चे उपदेश जी
एहना गुरुआ दी जय जय बुलाइये,
गुरु हुंदे रूप रब दा…

वैर मिला के यह ते प्यार सीखण्डे ने
विछड़िया रूह नु यह आप मिलन्दे ने
एहना गुरूआं नु मन च बसाइये,
गुरु हुंदे रूप रब दा…


Guru Hunde Roop Rab Da Bawa Lal Dayal

Guru Hunde Roop Rab Da
Aina Guruaa Da Maan Badhaiye
Guru Hunde Roop Rab Da

Mithi Mithi Vaani Bole Satguru Pyare Ji
Guruaa De Darshan Dukhde Nivare Ji
Guru Naam Wala Jaam Pi Jaiye
Guru Hunde Roop Rab Da

Guru Nu Bramha Kehande Guru Nu Mahesh Ji
Guruaa De Hunde Sare Sacche Updesh Ji
Aehna Guruaa Di Jai Jai Bulaiye
Guru Hunde Roop Rab Da

Vair Mila Ke Yah Te Pyar Sikhande Ne
Vichdiya Rooh Nu Yah Aap Milande Ne
Aehna Guruaa Nu Man Ch Basaiye
Guru Hunde Roop Rab Da

Guru Hunde Roop Rab Da Bawa Lal Dayal

हमें उम्मीद है की सभी भक्तो को यह आर्टिकल “गुरु हुंदे रूप रब दा | Guru Hunde Roop Rab Da Bawa Lal Dayal” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “ Guru Hunde Roop Rab Da Bawa Lal Dayal ” भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment