आज बुधवार है गणनायक जी का वार है लिरिक्स | Aaj Budhwar Hai Gannayak Ji Ka Vaar Hai Lyrics

भगवान गणेश “आज बुधवार है गणनायक जी का वार है लिरिक्स | Aaj Budhwar Hai Gannayak Ji Ka Vaar Hai Lyrics”  भक्तो के द्वारा गाया हुआ है। इस भजन में गणेश जी का अपने कारज में आमंत्रित किया जा रहा और उन्हें प्रसन्न किया जा रहा है।


Aaj Budhwar Hai Gannayak Ji Ka Vaar Hai Lyrics

आज बुधवार है गणनायक जी का वार है,
भक्ति का ये सार है ।
पूजे जो श्री गणपति जी को उसका बेड़ा पार है ।।

आज बुधवार है गणनायक जी का वार है ।।

सब देवों में गजानन जी पहले पूजे जाते हैं,
एकदंत और दयावन्त शिव नंदन वो कहलाते हैं ।
गणपति बप्पा मोरियाँ की महिमा अपरमपार है ,
पूजे जो श्री गणपति जी को उसका बेड़ा पार है ।।

आज बुधवार है गणनायक जी का वार है,
भक्ति का ये सार है ।
पूजे जो श्री गणपति जी को उसका बेड़ा पार है,
आज बुधवार है ।।

माथे पे सिंदूर है सोहे मूसे की सवारी है,
विघ्न विनाशक गणपति जी की महिमा जग से न्यारी है ।
तेरी लीला की गाथा, गाते ये संसार है,
पूजे जो श्री गणपति जी को उसका बेड़ा पार है ।।

आज बुधवार है गणनायक जी का वार है,
भक्ति का ये सार है ।
पूजे जो श्री गणपति जी को उसका बेड़ा पार है,
आज बुधवार है ।।

अंधे को तुम आँख हो देते, कोढ़िन को भी काया है,
बाँझन को तुम पुत्र हो देते निर्धन को भी माया है ।
रिद्धि सिद्धि दातार है करुणा की तू धार है,
पूजे जो श्री गणपति जी को उसका बेड़ा पार है ।।

आज बुधवार है गणनायक जी का वार है,
भक्ति का ये सार है ।
पूजे जो श्री गणपति जी को उसका बेड़ा पार है,
आज बुधवार है ।।


हमें उम्मीद है की गणेश जी के भक्तो को यह आर्टिकल “आज बुधवार है गणनायक जी का वार है लिरिक्स | Aaj Budhwar Hai Gannayak Ji Ka Vaar Hai Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “Aaj Budhwar Hai Gannayak Ji Ka Vaar Hai Lyrics” के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment