Shiv Se Shakti Shiv Se Bhakti Shiv Mukti Dham – शिव है शक्ति, शिव है भक्ति, शिव है मुक्ति धाम


Shiv Se Shakti Shiv Se Bhakti Shiv Mukti Dham शिव है शक्ति, शिव है भक्ति, शिव है मुक्ति धाम

शिव है शक्ति, शिव है भक्ति, शिव है मुक्ति धाम।।
शिव है ब्रह्मा, शिव है विष्णु, शिव है मेरा राम।।

ऐसी सुबह ना आए, आए ना ऐसी शाम।
जिस दिन जुबा पे मेरी आए ना शिव का नाम।।

ॐ नमः शिवाय।।
ॐ नमः शिवाय।।

मन मंदिर में वास है तेरा, तेरी छवि  बसाई
प्यासी आत्मा बनके जोगन, तेरी शरण में आई
तेरी ही शरण में पाया, मैंने यह विश्राम

ऐसी सुबह ना आए, आए ना ऐसी शाम।
जिस दिन जुबा पे मेरी आए ना शिव का नाम।।

तेरी खोज में ना जेने, कितने युग मेरे बीते
अंत में काम क्रोध मद हारे, हे भोले तुम जीते
मुक्त किया तूने प्रभु मुझको, शत शत है प्रणाम

ऐसी सुबह ना आए, आए ना ऐसी शाम।
जिस दिन जुबा पे मेरी आए ना शिव का नाम।।

सर्व कला संम्पन तुम्ही हो. हे मेरे परमेश्वर
दर्शन देकर धन्य करो अब, हे त्रिनेत्र महेश्वर
भाव सागर से तर जाउंगी, लेकर तेरा नाम

ऐसी सुबह ना आए, आए ना ऐसी शाम।
जिस दिन जुबा पे मेरी आए ना शिव का नाम।।

Shiv Se Shakti Shiv Se Bhakti

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here