Ram Naam Se Tune Bande Kyu Apna Mukh Moda Lyrics


Ram Naam Se Tune Bande Kyu Apna Mukh Moda Lyrics

राम नाम से तूने बन्दे क्यूँ अपना मुख मोड़ा,
दौड़ा जाए रे समय का घोड़ा ।

इक दिन बीता खेल-कूद में,इक दिन मौज में सोया,
देख बुढ़ापा आया तो क्यों पकड़ के लाठी रोया,
अब भी राम सुमिर ले नहीं तो पड़ेगा काल हथौड़ा,
दौड़ा जाए रे समय का घोड़ा ।

अमृतमय है नाम हरी का,तू अमृतमय बन जा,
मन में ज्योत जला ले,तू बस हरी के रंग में रंग जा,
डोर जीवन की सौंप हरी को,नहीं पड़ेगा फोड़ा,
दौड़ा जाए रे समय का घोड़ा ।

क्या लाया क्या ले जायेगा,क्या पाया क्या खोया,
वैसा ही फल मिले यहाँ जैसा तूने है बोया,
काल शीश पर बैठा,इसने किसी को ना है छोड़ा,
दौड़ा जाए रे समय का घोड़ा ।

मन के कहे जो चलते हैं वो दुःख ही दुःख हैं पाते,
माया के वश में जो हैं वो घोर नरक में जाते,
जो भी अजर-अमर बनते थे,उनका भी भ्रम तोड़ा,
दौड़ा जाए रे समय का घोड़ा ।


Ram Naam Se Tune Bande Kyu Apna Mukh Moda

Ram Nam Se Tune Bande Kyun Apana Mukh Moda,
Dauda Jae Re Samay Ka Ghoda .

Ik Din Beta Khela-kud Men,Ik Din Mauj Men Soya,
Dekh Budhapa Aya To Kyon Pakad Ke Lathe Roya,
Ab Bhe Ram Sumir Le Nahen To Padega Kal Hathauda,
Dauda Jae Re Samay Ka Ghoda .

Amritamay Hai Nam Hare Ka,Tu Amritamay Ban Ja,
Man Men Jyot Jala Le,Tu Bas Hare Ke Rang Men Rang Ja,
Dor Jevan Ke Saunp Hare Ko,Nahen Padega Phoda,
Dauda Jae Re Samay Ka Ghoda .

Kya Laya Kya Le Jayega,Kya Paya Kya Khoya,
Vaisa He Phal Mile Yahan Jaisa Tune Hai Boya,
Kal Shesh Par Baitha,Isane Kise Ko Na Hai Chhoda,
Dauda Jae Re Samay Ka Ghoda .

Man Ke Kahe Jo Chalate Hain Vo Duhkh He Duhkh Hain Pate,
Maya Ke Vash Men Jo Hain Vo Ghor Narak Men Jate,
Jo Bhe Ajara-amar Banate The,Unaka Bhe Bhram Toda,
Dauda Jae Re Samay Ka Ghoda .

Ram Naam Se Tune Bande Kyu Apna Mukh Moda Lyrics

Leave a Comment