प्रगटे हैं चारों भैया में अवध में बाजे बधईया लिरिक्स | Pragte Hain Charo Bhaiya Avadh Me Lyrics

मर्यादा पुरषोत्तम श्री राम का अति पावन भजन “प्रगटे हैं चारों भैया में अवध में बाजे बधईया लिरिक्स | Pragte Hain Charo Bhaiya Avadh Me Lyrics” – गजानन कृष्ण महाराज जी के द्वारा गाया गया है। इस भजन में राम भक्ति की महिमा का बखान किया गया है।


प्रगटे हैं चारों भैया में अवध में बाजे बधईया लिरिक्स

प्रगटे हैं चारों भैया में, अवध में बाजे बधईया ।

जगमगा जगमग दियाला जलत है,
झिलमिल होत अटरिया, अवध में बाजे बधईया ॥

कौन लुटावे हीरा मोती,
कौन लुटावे रूपया, अवध में बाजे बधईया ॥

राजा लुटावे हीरा मोती,
मैया लुटावे रूपया, अवध में बाजे बधईया ॥

झांझ मृदंग ताल डप बाजे
नाचत ता ता थैया, अवध में बाजे बधईया ॥

Pragte Hain Charo Bhaiya Avadh Me Lyrics

Pragte Hain Charo Bhaiya Avadh Me Lyrics

Pragate Hai Charo Bhaiya Me
Avadh Me Baaje Badhaiya

Jagmaga Jagmag Dilaya Jalat Hai
Jhilmil Hot Atriya
Avadh Me Baaje Badhaiya

Kon Lutave Heera Moti
Kon Lutave Rupaiya
Avadh Me Baaje Badhaiya

Raaja Lutave Heera Moti
Maiya Lutave Rupaiya
Avadh Me Baaje Badhaiya

Jhanjh Mradang Taal Dap Baaje
Nachat Ta Ta Thaiya
Avadh Me Baaje Badhaiya


हमें उम्मीद है की श्री राम के भक्तो को यह आर्टिकल “प्रगटे हैं चारों भैया में अवध में बाजे बधईया लिरिक्स | Pragte Hain Charo Bhaiya Avadh Me Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। ‘Pragte Hain Charo Bhaiya Avadh Me Lyrics‘ भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here