मंगलवार व्रत की आरती लिरिक्स | Mangalvar Vrat Ki Aarti Lyrics

मंगलवार व्रत की आरती “मंगलवार व्रत की आरती लिरिक्स | Mangalvar Vrat Ki Aarti Lyrics” । आरती के लिरिक्स हिंदी और इंग्लिश में वीडियो के साथ दिए हुए है।


मंगलवार व्रत की आरती लिरिक्स

मंगल मूरति जय जय हनुमन्ता, मंगल मंगल देव अनन्ता
हाथ वज्र और ध्वजा विराजे, कांधे मूंज जनेउ साजे
शंकर सुवन केसरी नन्दन, तेज प्रताप महा जग वन्दन॥

लाल लंगोट लाल दोउ नयना, पर्वत सम फारत है सेना
काल अकाल जुद्ध किलकारी, देश उजारत क्रुद्ध अपारी॥

राम दूत अतुलित बलधामा, अंजनि पुत्र पवन सुत नामा
महावीर विक्रम बजरंगी, कुमति निवार सुमति के संगी॥

भूमि पुत्र कंचन बरसावे, राजपाट पुर देश दिवाव
शत्रुन काट-काट महिं डारे, बन्धन व्याधि विपत्ति निवारें॥

आपन तेज सम्हारो आपे, तीनो लोक हांक ते कांपै
सब सुख लहैं तुम्हारी शरणा, तुम रक्षक काहू को डरना॥

तुम्हरे भजन सकल संसारा, दया करो सुख दृष्टि अपारा
रामदण्ड कालहु को दण्डा, तुमरे परस होत सब खण्डा॥

पवन पुत्र धरती के पूता, दो मिल काज करो अवधूता
हर प्राणी शरणागत आये, चरण कमल में शीश नवाये॥

रोग शोक बहुत विपत्ति घिराने, दरिद्र दुःख बन्धन प्रकटाने
तुम तज और न मेटन हारा, दोउ तुम हो महावीर अपारा॥

दारिद्र दहन ऋण त्रासा, करो रोग दुःस्वप्न विनाशा
शत्रुन करो चरन के चेरे, तुम स्वामी हम सेवक तेरे॥

विपत्ति हरन मंगल देवा अंगीकार करो यह सेवा
मुदित भक्त विनती यह मोरी, देउ महाधन लाख करोरी॥

श्री मंगल जी की आरती हनुमत सहितासु गाई
होइ मनोरथ सिद्ध जब अन्त विष्णुपुर जाई


Mangalvar Vrat Ki Aarti Lyrics

Mangala murati jaya jaya hanumanta,
mangala mangala deva ananta
hatha vajra aura dhvaja viraje,
kandhe munja jane’u saje
sankara suvana kesari nandana,
teja pratapa maha jaga vandana.

Lala langoṭa lala do’u nayana,
parvata sama pharata hai sena
kala akala jud’dha kilakari,
desa ujarata krud’dha apari.

Rama duta atulita baladhama,
anjani putra pavana suta nama
mahavira vikrama bajarangi,
kumati nivara sumati ke sangi.

Bhumi putra kancana barasave,
rajapaṭa pura desa divava
satruna kaṭa-kaṭa mahiṁ ḍare,
bandhana vyadhi vipatti nivareṁ.

Apana teja samharo ape,
tino loka hanka te kampai
saba sukha lahaiṁ tumhari saraṇa,
tuma rakṣaka kahu ko ḍarana.

Tumhare bhajana sakala sansara,
daya karo sukha dr̥ṣṭi apara
ramadaṇḍa kalahu ko daṇḍa,
tumare parasa hota saba khaṇḍa.

Pavana putra dharati ke puta,
do mila kaja karo avadhuta
hara praṇi saraṇagata aye,
caraṇa kamala meṁ sisa navaye.

Roga soka bahuta vipatti ghirane,
daridra duḥkha bandhana prakaṭane
tuma taja aura na meṭana hara,
do’u tuma ho mahavira apara.

Daridra dahana r̥ṇa trasa,
karo roga duḥsvapna vinasa
satruna karo carana ke cere,
tuma svami hama sevaka tere.

Vipatti harana mangala deva
angikara karo yaha seva
mudita bhakta vinati yaha mori,
de’u mahadhana lakha karori.

Sri mangala ji ki arati hanumata sahitasu ga’i
ho’i manoratha sid’dha jaba anta viṣṇupura ja’i


हमें उम्मीद है की सभी भक्तो को यह आर्टिकल मंगलवार व्रत की आरती लिरिक्स | Mangalvar Vrat Ki Aarti Lyrics + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। Mangalvar Vrat Ki Aarti Lyrics के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये। आप अपनी फरमाइश भी हमे कमेंट करके बता सकते है। हम वो भजन, आरती आदि जल्द से जल्द लाने को कोशिश करेंगे।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here