कृपा की न होती जो आदत तुम्हारी लिरिक्स | Kripa Ki Na Hoti Jo Aadat Tumhari Lyrics

कृष्ण भगवान का यह अद्बुध भजन “कृपा की न होती जो आदत तुम्हारी लिरिक्स | Kripa Ki Na Hoti Jo Aadat Tumhari Lyrics चित्र विचित्र जी महाराज के द्वारा गाया हुआ है। भजन के लिरिक्स हिंदी और इंग्लिश में वीडियो के साथ दिए हुए है।


कृपा की न होती जो आदत तुम्हारी लिरिक्स

मैं रूप तेरे पर, आशिक हूँ,
यह दिल तो तेरा, हुआ दीवाना ।
ठोकर खाई, दुनियाँ में बहुत,
मुझे द्वार से, अब न ठुकराना ।।

हर तरह से तुम्हारा, हुआ मैं तो,
फिर क्यों तुमको, मैं बेगाना ।
मुझे दरस दिखा दो, नंद लाला,
नहीं तो दर तेरे पर, मर जाना ।।

कृपा की न होती जो, आदत तुम्हारी ।
तो सूनी ही रहती, अदालत तुम्हारी ।।

गोपाल सहारा तेरा है ,
हे नंद लाल सहारा तेरा है ,
मेरा और सहारा कोई नहीं
गोपाल सहारा तेरा है ,
हे नंद लाल सहारा तेरा है…

ओ दीनो के दिल में, जगह तुम न पाते,
तो किस दिल में होती, हिफाजत तुम्हारी ।
कृपा की न होती जो, आदत तुम्हारी,
तो सूनी ही रहती, अदालत तुम्हारी ।।

ग़रीबों की दुनियाँ है, आबाद तुमसे ,
ग़रीबों से है, बादशाहत तुम्हारी ।
कृपा की न होती जो, आदत तुम्हारी,
तो सूनी ही रहती, अदालत तुम्हारी ।।

न मुल्जिम ही होते, न तुम होते हाकिम,
न घर-घर में होती, इबादत तुम्हारी ।
कृपा की न होती जो, आदत तुम्हारी,
तो सूनी ही रहती, अदालत तुम्हारी ।।

तुम्हारी ही उल्फ़त के, द्रिग ‘बिन्दु’ हैं यह ,
तुम्हें सौंपते है, अमानत तुम्हारी ।
कृपा की न होती जो, आदत तुम्हारी,
तो सूनी ही रहती, अदालत तुम्हारी ।।


Kripa Ki Na Hoti Jo Aadat Tumhari Lyrics

Me Roop Tere Par Aashisq Hu,
Yah Dil To Tera Hua Deewana ।
Thokhar Khai Duniya Me Bahut,
Mujhe Dwar Se Ab Na Thukrai ।।

Har Tarah Se Tumhara Hua Me To,
Phir Kyo Tumko Me Begana ।
Mujhe Daras Dikha Do Nand Lala,
Nahi To Dar Tere Par Mar Jana ।।

Kripa Ki Na Hoti Jo Aadat Tumhari ।
To Suni Hi Rahti Adalat Tumhari ।।

Gopal Sahara Tera Hai,
Hey Nand Lala Sahara Tera Hai,
Mera Aur Sahara Kou Nahi ।
Gopal Sahara Tera Hai,
Hey Nand Laal Sahara Tera Hai ।।

O Deeno Ke Dil Me Jagah Tum Na Pate,
Ti Kis Dil Me Hoti Hifajat Tumhari ।
Kripa Ki Na Hoti Jo Aadat Tumhari,
To Suni Hi Rahti Adalat Tumhari ।।

Garibo Ki Duniya Hai Aabad Tumse,
Garibo Se Hai Badshahat Tumhari ।
Kripa Ki Na Hoti Jo Aadat Tumhari,
To Suni Hi Rahti Adalat Tumhari ।।

Na Muljim Hi Hote Na Tum Hote Hakim,
Na Ghar Ghar Me Hoti Ibadat Tumhari ।
Kripa Ki Na Hoti Jo Aadat Tumhari,
To Suni Hi Rahti Adalat Tumhari ।।

Tumhari Hi Ulfat Ke Drig Bindu Hai Yah,
Tume Sopte Hai Amanat Tumahri ।
Kripa Ki Na Hoti Jo Aadat Tumhari,
To Suni Hi Rahti Adalat Tumhari ।।

Kripa Ki Na Hoti Jo Aadat Tumhari Lyrics

Kripa Ki Na Hoti Jo Aadat Tumhari PDF


हमें उम्मीद है की श्री कृष्ण के भक्तो को यह आर्टिकल “कृपा की न होती जो आदत तुम्हारी लिरिक्स | Kripa Ki Na Hoti Jo Aadat Tumhari Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “Kripa Ki Na Hoti Jo Aadat Tumhari Lyrics” भजन के आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment

आरती : जय अम्बे गौरी मैया जय श्यामा गौरी