ज़िंदगी एक किराए का घर है हिंदी लिरिक्स | Jindagi Ek Kiraye Ka Ghar Hai Hindi Lyrics

भजन “ज़िंदगी एक किराए का घर है हिंदी लिरिक्स | Jindagi Ek Kiraye Ka Ghar Hai Hindi Lyrics” रईस अनिस साबरी जी का गाया हुआ भजन है। आरती के लिरिक्स हिंदी और इंग्लिश में वीडियो के साथ दिए हुए है।


Jindagi Ek Kiraye Ka Ghar Hai Hindi Lyrics

ज़िंदगी एक किराए का घर है,
एक ना एक दिन बदलना पड़ेगा,
मौत जब तुमको आवाज़ देगी,
घर से बाहर निकलना पड़ेगा।।

ढेर मिट्टी का हर आदमी है
बाद मरने के होना यही है,
या ज़मीनो में तुरबत बनेगी,
या चिताओ में जलना पड़ेगा,
ज़िंदगी एक किराये का घर है,
एक ना एक दिन बदलना पड़ेगा।।

रात के बाद होगा सवेरा,
देखना है अगर दिन सुनहरा,
पाँव फूलो पे रखने से पहले,
तुमको काँटों पे चलना पड़ेगा,
ज़िंदगी एक किराये का घर है,
एक ना एक दिन बदलना पड़ेगा।।

ऐतबार उनके वादो का मत कर,
वरना ए दिल मेरे ज़िंदगी भर,
तुझको भी मोमबति की तरह,
कतरा कतरा पिघलना पड़ेगा,
ज़िंदगी एक किराये का घर है,
एक ना एक दिन बदलना पड़ेगा।।

ये जवानी हैं पल भर का सपना,
ढूँढ ले कोई महबूब अपना,
ये जवानी अगर ढल गई तो,
ऊम्र भर हाथ मलना पड़ेगा,
ज़िंदगी एक किराये का घर है,
एक ना एक दिन बदलना पड़ेगा।।

ज़िंदगी एक किराए का घर है,
एक ना एक दिन बदलना पड़ेगा,
मौत जब तुमको आवाज़ देगी,
घर से बाहर निकलना पड़ेगा।।

Jindagi Ek Kiraye Ka Ghar Hai Hindi Lyrics

हमें उम्मीद है की भक्तो को यह आर्टिकल “ज़िंदगी एक किराए का घर है हिंदी लिरिक्स | Jindagi Ek Kiraye Ka Ghar Hai Hindi Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “ Jindagi Ek Kiraye Ka Ghar Hai Hindi Lyrics ” भजन के आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here