Amar Nath Shiv Sab Ke Palanhari Hai Lyrics

भगवान शिव का यह मनमोहक और अद्बुध शिव भजन “अमर नाथ शिव सब के पालन हारी है | Amar Nath Shiv Sab Ke Palanhari Hai Lyrics” जिसको मुकेश इनायत जी के द्वारा गाया गया है। भजन का लिरिक्स, वीडियो और ऑडियो के साथ दिया गया है।


Amar Nath Shiv Sab Ke Palanhari Hai Lyrics

महाकाल शिव नाथ भोले भंडारी है,
अमर नाथ शिव सब के पालन हारी है।
त्रिनेत्र शिव जोगी शिव विशरारी है,
अमर नाथ शिव सब के पालन हारी है।

नील कंठ महादेव का डम डम डमरू वाजे,
भस्म रमावे जटा गंग साजे करते भेड़े पार बड़े उपकारी है
अमर नाथ शिव सब के पालन हारी है।

वन में समाधि करे महाकाल के मलंग जी,
बाबा बर्फानी सदा रहे अंग संग जी।
भुत प्रेत सब जिनके आज्ञा कारी है,
अमर नाथ शिव सब के पालन हारी है।

पूजा करे संसार महादेव ॐ नाथ की,
मणि महेश मेरे बाबा सोम नाथ की।
इनयात शिव तिरलोकी शिव त्रिपुरारी है,
अमर नाथ शिव सब के पालन हारी है।

Amar Nath Shiv Sab Ke Palanhari Hai Lyrics

हमें उम्मीद है की भगवान शिव के भक्तो को यह आर्टिकल “अमर नाथ शिव सब के पालन हारी है | Amar Nath Shiv Sab Ke Palanhari Hai Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। Amar Nath Shiv Sab Ke Palanhari Hai Lyrics भजन के आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here