वंदे मातरम् लिरिक्स | Vande Mataram Song With Lyrics

हमारा राष्ट्रगीत वंदेमातरम एक बंगाली कविता है जिसे बंकिम चंद्र चटर्जी ने 1870 में लिखा था। इसे आनंदमठ में 12 साल बाद 1882 में शामिल किया गया था। राष्ट्रीय गीत “वंदे मातरम” पहली बार 1896 में रवींद्रनाथ टैगोर (राष्ट्रीय गान के लेखक) द्वारा गाया गया था। मूल वंदेमातरम में बंकिमचंद्र द्वारा लिखे गए छः छंद हैं।


वंदे मातरम् लिरिक्स

वन्दे मातरम्।
सुजलाम् सुफलाम् मलय़जशीतलाम्,
शस्यश्यामलाम् मातरम्। वन्दे मातरम्।। १।।

शुभ्रज्योत्स्ना पुलकितयामिनीम्,
फुल्लकुसुमित द्रुमदलशोभिनीम्,
सुहासिनीम् सुमधुरभाषिणीम्,
सुखदाम् वरदाम् मातरम्। वन्दे मातरम्।। २।।


Vande Mataram Song With Lyrics

Vande Mataram!

Sujalam, suphalam, malayaja shitalam,

Shasyashyamalam, Mataram!

Vande Mataram!

Shubhrajyotsna pulakitayaminim,

Phullakusumita drumadala shobhinim,

Suhasinim sumadhura bhashinim,

Sukhadam varadam, Mataram!

Vande Mataram, Vande Mataram!


वंदे मातरम् का हिंदी अनुवाद

मैं आपके सामने नतमस्तक होता हूँ। ओ माता!
पानी से सींची, फलों से भरी,
दक्षिण की वायु के साथ शान्त,
कटाई की फसलों के साथ गहरी,
माता!

उसकी रातें चाँदनी की गरिमा में प्रफुल्लित हो रही हैं,
उसकी जमीन खिलते फूलों वाले वृक्षों से बहुत सुन्दर ढकी हुई है,
हँसी की मिठास, वाणी की मिठास,
माता! वरदान देने वाली, आनन्द देने वाली।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here