श्याम तेरी मेरी प्रीत पुरानी लिरिक्स | Shyam Teri Meri Preet Purani Lyrics

श्याम बाबा का एक अद्बुध भजन “श्याम तेरी मेरी प्रीत पुरानी लिरिक्स | Shyam Teri Meri Preet Purani Lyrics” नीरज अवस्थी जी के द्वारा गाया हुआ है। इनकी भक्ति से श्याम जी की कृपा बनी रहती है। बाबा श्याम अपने भक्तो पर अपना आशीर्वाद बनाये रखते है।


Shyam Teri Meri Preet Purani Lyrics

श्याम तेरी मेरी तेरी मेरी,
है ये प्रीत पुरानी ।
तेरी कृपा से सब हो पाया,
बिन पंखों के मैं उड़ पाया ।।

तेरे दर से पहचान मिली हैं,
ओ शीश के दानी ।
श्याम तेंरी मेरी तेंरी मेरी,
है ये प्रीत पुरानी ।।

हारे का सहारा तू है लखदातारी,
तेरी रहमतों पर जाऊं बलिहारी ।
बाबा तेरी रहती हर पल,
बड़ी मेहरबानी ।।

श्याम तेंरी मेरी तेंरी मेरी ।
है ये प्रीत पुरानी ।।

तेरे एहसानों का मैं करूं शुकराना,
प्रेम का ये बंधन सदा ही निभाना ।
चलता तेरे दम पर ही तो,
मेरा दाना पानी ।।

श्याम तेंरी मेरी तेंरी मेरी ।
है ये प्रीत पुरानी ।।

तेरी मर्जीयों से है होनी अनहोनी,
सेवा में रहता है दास तेरा टोनी ।
तुमसे टूटे प्रीत कभी ना,
ये कहता चोखानी ।।

श्याम तेंरी मेरी तेंरी मेरी ।
है ये प्रीत पुरानी ।।

श्याम तेरी मेरी तेरी मेरी,
है ये प्रीत पुरानी ।
तेरी कृपा से सब हो पाया,
बिन पंखों के मैं उड़ पाया ।।

तेरे दर से पहचान मिली हैं,
ओ शीश के दानी ।
श्याम तेंरी मेरी तेंरी मेरी,
है ये प्रीत पुरानी ।।


हमें उम्मीद है की श्याम जी के भक्तो को यह आर्टिकल “श्याम तेरी मेरी प्रीत पुरानी लिरिक्स | Shyam Teri Meri Preet Purani Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “Shyam Teri Meri Preet Purani Lyrics” भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये। आप अपनी फरमाइश भी हमे कमेंट करके बता सकते है। हम वो भजन, आरती आदि जल्द से जल्द लाने को कोशिश करेंगे।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment