मत रोको डगर मेरे श्याम लिरिक्स | Mat Roko Dagar Mere Shyam lyrics

कृष्ण भगवान का यह अद्बुध भजन “मत रोको डगर मेरे श्याम लिरिक्स | Mat Roko Dagar Mere Shyam lyrics” श्रेया घोषाल का गाया हुआ है। इस भजन में राधा और श्री कृष्ण के के बिच प्रेम कहानी के बारे में बताया गया है।


Mat Roko Dagar Mere Shyam lyrics

Mat Roko Dagar Mere Shyam (X2)
Aaj Main To Aayi Dahi Bechan Ko (X2)
Kunvar Kalaai Chedo Na Yun Hamko
Kya Kahega Ye Sara Gaav

Bolo Kya Hai Ji Uska Naam (X2)
Dahi Ke Bahane Aayi Jis Se Milan Ko
Man Main Chupaye Gori Preet Ki Lagan Ko
Jiske Man Main Hain Tera Dhaam

Mat Roko Dagar Mere Shyam
Bolo Kya Hai Ji Uska Naam

Ho Main Ek Braj Ki Naar Naveli
Khete Sabhi Brishbhaan Ki Lali

Ho Dhai Bechan Tu Saanjh Dhale Kyun
Aayi Re Gujariya Meri Gaali
Aachha Ye Baatao Gori Dahi Wali Koi Chori
Aaise Saj Dhaj Ke Jo Aaye
Tumhe Kyon Baatye Bhala
Hai Koi Chabila Jise
Mere Rang Ki Hi Dahi Bhaye
Mohe Dundhe Jo Man Ko Tha

Mat Roko Dagar Mere Shyam
Bolo Kya Hai Ji Uska Naam

Ho Hum Bhi Hain Dahi Makhan Ke Rasiya
Kehete Humain Sab Sawariya

Ho Sawala Tan Hain Sawala Man Bhi
Phir Bhi Main Teri Bawariya

Aate Jate Roke Kahe Raste Main Roke Kahe
Soodh Budh Kyun Tu Ne Churayi
Aachcha Bholi Bhali Radha Rani
Meri Bhi Yahi Kahani
Murli Main Tu Hi Hai Samayi
Bhed Khul Hi Gaya Hai Raaaaaaam

Mat Roko Dagar Mere Shyam (X2)
Aajmain To Aayi Dahi Bechan Ko (X2)
Kunvar Kalaai Chedo Na Yun Hamko
Kya Kahega Ye Sara Gaav

Bolo Kya Hai Ji Uska Naam (X2)
Dahi Ke Bahane Aayi Jis Se Milan Ko
Man Main Chupaye Gori Preet Ki Lagan Ko
Jiske Man Main Hain Tera Dhaam

Mat Roko Dagar Mere Shyam
Bolo Kya Hai Ji Uska Naam

Mat Roko Dagar Mere Shyam lyrics

मत रोको डगर मेरे श्याम लिरिक्स

मत रोको डगर मेरे श्याम …(2)
आज मैं तो आयी दही बेचैन को …(2)
कुंवर कलाई छेड़ो न यूँ हमको ..
क्या कहेगा ये सारा गाव..

बोलो क्या है जी उसका नाम …(2)
दही के बहाने आयी जिसे मिलाने को
मन मैं छुपाये गोरी प्रीत की लगन को
जिसके मन मैं हैं तेरा धाम ..

मत रोको डगर मेरे श्याम ..
बोलो क्या है जी उसका नाम ..

हो .. मैं एक ब्रज की नर नवेली
कहते सभी बृषभान की लाली

हो. .. दही बेचन तू सांझ ढले क्यों
आयी रे गुजरिया मेरी गाली
अच्छा ये बाताओ गोरी दही वाली कोई चोरी
ऐसे सज धज के जो आये
तुम्हे क्यों बातये भला
है कोई छबीला जिसे मेरे रंग की ही दही भाये
मोहे ढूंढे जो मन को था

मत रोको डगर मेरे श्याम ..
बोलो क्या है जी उसका नाम ..

हो .. हम भी हैं दही माखन के रसिया
कहते हमें सब सावरिया

हो …सवाल तन हैं सवाल मन भी
फिर भी मैं तेरी बावरिया

आते जाते रोके कहे रस्ते मैं
रोके कहे सूध बुध क्यों तू ने चुराई
अच्छा…भोली भली राधा रानी
मेरी भी यही कहानी मुरली मैं तू ही है समायी
भेद खुल ही गया है राआआआम …

मत रोको डगर मेरे श्याम …(2)
आजमाएं तो आयी दही बेचैन को …(2)
कुंवर कलाई छेड़ो न यूँ हमको ..
क्या कहेगा ये सारा गाव ..

बोलो क्या है जी उसका नाम …(2)
दही के बहाने आयी जिसे मिलान को
मन मैं छुपाये गोरी प्रीत की लगन को
जिसके मन मैं हैं तेरा धाम ..

मत रोको डगर मेरे श्याम …
बोलो क्या है जी उसका नाम …


हमें उम्मीद है की श्री कृष्णके भक्तो को यह आर्टिकल मत रोको डगर मेरे श्याम लिरिक्स | Mat Roko Dagar Mere Shyam lyrics + Video + Audio बहुत पसंद आया होगा। आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये। आप अपनी फरमाइश भी हमे कमेंट करके बता सकते है। हम वो भजन, आरती आदि जल्द से जल्द लाने को कोशिश करेंगे।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here