राम दुलारे हनुमत प्यारे लिरिक्स | Ram Dulaare Hanumat Pyare Lyrics

पवन पुत्र हनुमान जी का अति पावन भजन “राम दुलारे हनुमत प्यारे लिरिक्स | Ram Dulaare Hanumat Pyare Lyrics” – रंजीत राजा जी के द्वारा गाया गया है। इस भजन में श्रीराम के सबसे बड़े भक्त हनुमान जी की राम भक्ति बताया गया है।

https://youtube.com/watch?v=VOnMqreNqro

Ram Dulaare Hanumat Pyare Lyrics

राम दुलारे हनुमत प्यारे मन की ज्योत जगाते है ।
भगति हम को सिखलाने वे सवयं भगत बन जाते है ।।

राम दुलारे हनुमत प्यारे ।
मन की ज्योत जगाते है ।।

अंजनी पुत्र ये बोले हमसे भगति में शक्ति भर ले,
बिना स्वाथ जो करे ध्यान जग में कभी न तू डोले ।
राम के हाथ जो पत्थर डूबा हनुमत उसे तराते है,
राम नाम की शक्ति को भगति से अपनी बढ़ाते है ।।

राम दुलारे हनुमत प्यारे ।
मन की ज्योत जगाते है ।।

सेवा मन से ऐसी करो शंका न कोई पास रहे,
रावण मन का जले तब ही जब हनुमत साथ रहे ।
राम के मुख से निकले जो भी हनुमत उसे निभाते है,
ऐसी भगति देख राम खुद जय हनुमान गाते है ।।

राम दुलारे हनुमत प्यारे ।
मन की ज्योत जगाते है ।।

निशल प्रेम से जो भी भगत अपने प्रभु को याद करे,
राम भगत बजरगं बलि निज उसके कष्टों को दूर करे ।
एहंकार से दूर बहुत बस राम नाम गुण गाते है,
हनुमान का नाम सभी श्री राम के साथ बुलाते है ।।

राम दुलारे हनुमत प्यारे ।
मन की ज्योत जगाते है ।।


हमें उम्मीद है की श्री राम के भक्त हनुमान जी ये भजन का यह आर्टिकल “राम दुलारे हनुमत प्यारे लिरिक्स | Ram Dulaare Hanumat Pyare Lyrics” + Video + Audio बहुत पसंद आया होगा। “Ram Dulaare Hanumat Pyare Lyrics” भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment

आरती : जय अम्बे गौरी मैया जय श्यामा गौरी