कन्हैया तुम्हे एक नजर देखना है भजन लिरिक्स | Kanhaiya Tumhe Ik Nazar Dekhna Hai Lyrics

कृष्ण भगवान का यह अद्बुध भजन “कन्हैया तुम्हे एक नजर देखना है भजन लिरिक्स | Kanhaiya Tumhe Ik Nazar Dekhna Hai Lyrics” चित्र विचित्र जी के द्वारा गाया हुआ है। भजन के लिरिक्स हिंदी और इंग्लिश में वीडियो के साथ दिए हुए है।


Kanhaiya Tumhe Ik Nazar Dekhna Hai Lyrics

कन्हैया तुम्हे एक नजर देखना है,
जिधर तुम छुपे हो उधर देखना है।।

अगर तुम हो दीनो के आहो के आशिक,
तो आहो का अपना असर देखना है,
जिधर तुम छुपे हो उधर देखना है,
कन्हैया तुम्हे एक नजर देखना है।।

उबारा था जिस हाथ ने गिद्ध गज को,
उसी हाथ का अब असर देखना है,
जिधर तुम छुपे हो उधर देखना है,
कन्हैया तुम्हे एक नजर देखना है।।

विधुर भीलनी के जो घर तुमने देखे,
तो हमको तुम्हारा भी घर देखना है,
जिधर तुम छुपे हो उधर देखना है,
कन्हैया तुम्हे एक नजर देखना है।।

टपकते है द्रग बिंदु तुमसे ये कहकर,
तुम्हे अपनी उल्फत मे तर देखना है,
जिधर तुम छुपे हो उधर देखना है,
कन्हैया तुम्हे एक नजर देखना है।।

कन्हैया तुम्हे एक नजर देखना है,
जिधर तुम छुपे हो उधर देखना है।।

Kanhaiya Tumhe Ik Nazar Dekhna Hai Lyrics

हमें उम्मीद है की श्री कृष्ण के भक्तो को यह आर्टिकल “कन्हैया तुम्हे एक नजर देखना है भजन लिरिक्स | Kanhaiya Tumhe Ik Nazar Dekhna Hai Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “ Kanhaiya Tumhe Ik Nazar Dekhna Hai Lyrics ” भजन के आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here