कलयुग मे सिद्ध हो देव तुम्ही हनुमान तुम्हारा क्या कहना लिरिक्स | Kalyug Me Sidh Ho Dev Tumhi Hanuman Lyrics

पवन पुत्र हनुमान जी का अति पावन भजन “कलयुग मे सिद्ध हो देव तुम्ही हनुमान तुम्हारा क्या कहना लिरिक्स | Kalyug Me Sidh Ho Dev Tumhi Hanuman Lyrics” – लखबीर सिंह लक्खा जी के द्वारा गाया गया है। इस भजन में श्रीराम के सबसे बड़े भक्त हनुमान जी की राम भक्ति बताया गया है।


Kalyug Me Sidh Ho Dev Tumhi Hanuman Lyrics

कलयुग मे सिद्ध हो देव तुम्ही,
हनुमान तुम्हारा क्या कहना,
तेरी भक्ति का क्या कहना,
तेरी शक्ति का क्या कहना।।

सीता की खोज करी तुमने,
तुम सात समन्दर पार गये,
लंका को,
लंका को किया शमशान प्रभु,
बलवान तुम्हारा क्या कहना,
तेरी भक्ति का क्या कहना,
तेरी शक्ति का क्या कहना।।

जब लक्ष्मण जी को शक्ति लगी,
तुम धोलागिर पर्वत लाये,
लक्ष्मण के,
लक्ष्मण के बचाये आ कर के,
तब प्राण तुम्हारा क्या कहना,
तेरी भक्ति का क्या कहना,
तेरी शक्ति का क्या कहना।।

तुम भक्त शिरोमणि हो जग मे,
तुम वीर शिरोमणि हो जग मे,
तेरे रोम रोम मे,
तेरे रोम रोम मे बसते हैं,
सिया राम तुम्हारा क्या कहना,
तेरी भक्ति का क्या कहना,
तेरी शक्ति का क्या कहना।।

कलयुग मे सिद्ध हो देव तुम्ही,
हनुमान तुम्हारा क्या कहना,
तेरी भक्ति का क्या कहना,
तेरी शक्ति का क्या कहना।।

Kalyug Me Sidh Ho Dev Tumhi Hanuman Lyrics

हमें उम्मीद है की श्री राम के भक्त हनुमान जी ये भजन का यह आर्टिकल “कलयुग मे सिद्ध हो देव तुम्ही हनुमान तुम्हारा क्या कहना लिरिक्स | Kalyug Me Sidh Ho Dev Tumhi Hanuman Lyrics” + Video + Audio बहुत पसंद आया होगा। “ Kalyug Me Sidh Ho Dev Tumhi Hanuman Lyrics ” भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here