काल की विकराल की त्रिलोकेश्वर त्रिकाल की लिरिक्स | Kaal Ki Vikral Ki Karo Re Mangal Aarti Lyrics

भगवान शिव की आरती “काल की विकराल की त्रिलोकेश्वर त्रिकाल की लिरिक्स | Kaal Ki Vikral Ki Karo Re Mangal Aarti Lyrics” अनुराधा पौडवाल जी के द्वारा गायी हुई है। आरती के लिरिक्स हिंदी और इंग्लिश में वीडियो के साथ दिए हुए है।

Kaal Ki Vikral Ki Karo Re Mangal Aarti Lyrics

काल की विकराल की त्रिलोकेश्वर त्रिकाल की लिरिक्स

काल की विकराल की, त्रिलोकेश्वर त्रिकाल की,
भोले शिव कृपाल की, करो रे मंगल आरती,
मृत्युंजय महाकाल की, करो रे मंगल आरती,
मृत्युंजय महाकाल की, बाबा महाकाल की,
ओ मेरे महाकाल की,
करो रे मंगल आरती, मृत्युंजय महाकाल की।।

पित पुष्प बाघम्बर धारी, नंदी तेरी सवारी,
त्रिपुंडधारी हे त्रिपुरारी, भोले भव भयहारी,
शम्भू दिन दयाल की, तीन लोक दिगपाल की,
कैलाषी शशिभाल की,
करो रे मंगल आरती, मृत्युंजय महाकाल की।।

डमरू बाजे डम डम डम, नाचे शंकर भोला,
बम भोले शिव बमबम बमबम, चढ़ा भंग का गोला,
जय जय ह्रदय विशाल की, आशुतोष प्रतिपाल की,
नैना धक धक ज्वाल की,
करो रे मंगल आरती, मृत्युंजय महाकाल की।।

आरत हरी पालनहारी, तू है मंगलकारी,
मंगल आरती करे नर नारी, पाएं पदारथ चारि,
कालरूप महाकाल की,कृपासिंधु महाकाल की,
उज्जैनी महाकाल की,
करो रे मंगल आरती, मृत्युंजय महाकाल की।।

काल की विकराल की, त्रिलोकेश्वर त्रिकाल की,
भोले शिव कृपाल की, करो रे मंगल आरती,
मृत्युंजय महाकाल की, करो रे मंगल आरती,
मृत्युंजय महाकाल की, बाबा महाकाल की,
ओ मेरे महाकाल की,
करो रे मंगल आरती, मृत्युंजय महाकाल की।।

Kaal Ki Vikral Ki Karo Re Mangal Aarti Lyrics

Kaal Ki Vikral Ki Karo Re Mangal Aarti Lyrics

Kaal Ki Vikraal Ki
Trilokeshwar Trikaal Ki
Bhole Shiv Kripaal Ki
Karo Re Mangal Aarti
Mratyumjay Mahakaal Ki
Karo Re Mangal Aarti
Mratyumjay Mahakaal Ki
Baba Mahakaal Ki
Oo Mere Mahakaal Ki
Karo Re Mangal Aarti
Trilokeshwar Trikaal Ki

Pit Pushp Baghambar Dhari
Nandi Teri Sawari
Tripunddhari Hey Tripurari
Bhole Bhav Bhayhari
Shambhu Din Dayaal Ki,
Teen Log Deegpaal Ki
Kailashi Shashibhaal Ki
Karo Re Mangal Aarti
Mratyumjay Mahakaal Ki

Damru Baaje Dam Dam Dam
Nache Shankar Bhola
Bam Bhole Shiv Bambam Bambam
Chadha Bhang Ka Gola
Jai Jai Hridya Vishal Ki
Ashutosh Pratipal Ki
Naina Dhak Dhak Jwaal Ki
Karo Re Mangal Aarti
Mratyumjay Mahakaal Ki

Aarat Hari Palanhari
Tu Hai Mangalkaari
Mangal Aarti Kare Nar Nari
Paaye Padarath Chari
Kaalrup Mahakaal Ki
Kripasindhu Mahakaal Ki
Ujjeni Mahakaal Ki
Karo Re Mangal Aarti
Mratyumjay Mahakaal Ki

Kaal Ki Vikraal Ki
Trilokeshwar Trikaal Ki
Bhole Shiv Kripaal Ki
Karo Re Mangal Aarti
Mratyumjay Mahakaal Ki
Karo Re Mangal Aarti
Mratyumjay Mahakaal Ki
Karo Re Mangal Aarti
Oo Mere Mahakaal Ki
Karo Re Mangal Aarti
Trilokeshwar Trikaal Ki


हमें उम्मीद है की भगवान शिव के भक्तो को यह आर्टिकल “काल की विकराल की त्रिलोकेश्वर त्रिकाल की लिरिक्स | Kaal Ki Vikral Ki Karo Re Mangal Aarti Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। ‘Kaal Ki Vikral Ki Karo Re Mangal Aarti Lyrics‘ भजन के आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here