shri shiv stuti Header

Kailash Kher Shiv Song: Jagat Chetna Hu Anaadi Ananta Video, Lyrics

भगवान शिव का यह अद्बुध भजन “जगत चेतना हूँ अनादि अनंता लिरिक्स | Jagat Chetna Hu Anadi Ananta Lyrics” जिसको Kailash Kher द्वारा गाया गया है। भजन का लिरिक्स, वीडियो और ऑडियो के साथ दिया गया है।


जगत चेतना हूँ अनादि अनंता लिरिक्स

ना मन हूँ ना बुद्धि ना चित अहंकार
ना जिव्या नयन नासिका करण द्वार
ना मन हूँ ना बुद्धि ना चित अहंकार
ना जिव्या नयन नासिका करण द्वार

ना चलता ना रुकता ना कहता ना सुनता
जगत चेतना हूँ अनादि अनन्ता
ना चलता ना रुकता ना कहता ना सुनता
जगत चेतना हूँ अनादि अनन्ता

ना मैं प्राण हूँ ना ही हूँ पंच वायु
ना मुज्मे घृणा ना कोई लगाव
ना लोभ मोह इर्ष्या ना अभिमान भाव
धन धर्म काम मोक्ष सब अप्रभाव

मैं धन राग गुणदोष विषय परियांता
जगत चेतना हूँ अनादि अनन्ता
मैं धन राग गुणदोष विषय परियांता
जगत चेतना हूँ अनादि अनन्ता

मैं पुण्य ना पाप सुख दुःख से विलग हूँ
ना मंत्र ना ज्ञान ना तीर्थ और यज्ञ हूँ

ना भोग हूँ ना भोजन ना अनुभव ना भोक्ता
जगत चेतना हूँ अनादि अनन्ता
ना भोग हूँ ना भोजन ना अनुभव ना भोक्ता
जगत चेतना हूँ अनादि अनन्ता

ना मृत्यु का भय है ना मत भेद जाना
ना मेरा पिता माता मैं हूँ अजन्मा

निराकार साकार शिव सिद्ध संता
जगत चेतना हूँ अनादि अनंता
निराकार साकार शिव सिद्ध संता
जगत चेतना हूँ अनादि अनंता

मैं निरलिप्त निरविकल्प सूक्ष्म जगत हूँ
हूँ चैतन्य रूप और सर्वत्र व्याप्त हूँ

मैं हूँ भी नहीं और कण कण रमता
जगत चेतना हूँ अनादि अनंता
मैं हूँ भी नहीं और कण कण रमता
जगत चेतना हूँ अनादि अनंता

ये भौतिक चराचर ये जगमग अँधेरा
ये उसका ये इसका ये तेरा ये मेरा
ये आना ये जाना लगाना है फेरा
ये नाश्वर जगत थोड़े दिन का है डेरा

ये प्रश्नों में उत्तर हुनिहित दिगंत
जगत चेतना हूँ अनादि अनंता
ये प्रश्नों में उत्तर हुनिहित दिगंत
जगत चेतना हूँ अनादि अनंता

ना मन हूँ ना बुद्धि ना चित अहंकार
ना जिव्या नयन नासिका करण द्वार
ना मन हूँ ना बुद्धि ना चित अहंकार
ना जिव्या नयन नासिका करण द्वार

ना चलता ना रुकता ना कहता ना सुनता
जगत चेतना हूँ अनादि अनंता
ना चलता ना रुकता ना कहता ना सुनता
जगत चेतना हूँ अनादि अनंता

ना चलता ना रुकता ना कहता ना सुनता
जगत चेतना हूँ अनादि अनंता
ना चलता ना रुकता ना कहता ना सुनता
जगत चेतना हूँ अनादि अनंता


Jagat Chetna Hu Anadi Ananta Lyrics

Na Man Hun Na Buddhi Na Chit Ahankaar
Na Jivyah Nayan Nasika Karn Dwaar X2

Na Chalta Na Rukta Na Kehta Na Sunta
Jagat Chetna Hu Anaadi Ananta X2

Na Mai Pran Hu Na Hi Hu Panch Vayu
Na Mujhme Ghrina Na Koi Lagaav
Na Lobh Moh Irshya Na Abhimaan Bhav
Dhan Dharm Kaam Moksh Sab Aprabhav

Mai Dhan Raag Gundosh Vishaya Pariyanta
Jagat Chetna Hu Anaadi Ananta X2

Mai Punya Na Paap Sukh Dukh Se Vilag Hun
Na Mantra Na Gyan Na Tirth Aur Yagya Hun

Na Bhog Hun Na Bhojan Na Anubhav Na Bhokta
Jagat Chetna Hu Anaadi Ananta X2

Na Mrityu Ka Bhay Hai Na Mat Bhed Jana
Na Mera Pita Mata Mai Hun Ajanma

Nirakaar Saakar Shiv Siddh Santa
Jagat Chetna Hu Anaadi Ananta X2

Mai Nirlipt Nirvikalp Sukshm Jagat Hun
Hun Chaitanya Roop Aur Sarwatr Vyapt Hun

Mai Hun Bhi Nahi Aur Kan Kan Ramanta
Jagat Chetna Hu Anaadi Ananta X2

Yeh Bhautik Charaachar Yeh Jagmag Andhera
Yeh Uska Ye Iska Yeh Tera Yeh Mera
Yeh Aana Yeh Jaana Lagaana Hai Fera
Yeh Nashwar Jagat Thode Din Ka Hai Dera

Yeh Prashno Mein Uttar Hunihit Diganta
Jagat Chetna Hu Anaadi Ananta X2

Na Man Hun Na Buddhi Na Chit Ahankaar
Na Jivyah Nayan Nasika Karn Dwaar X2

Na Chalta Na Rukta Na Kehta Na Sunta
Jagat Chetna Hu Anaadi Ananta X4

Jagat Chetna Hu Anadi Ananta Lyrics

Jagat Chetna Hu Anaadi Ananta Video, Lyrics
Jagat Chetna Hu Anadi Ananta Lyrics

हमें उम्मीद है की भगवान शिव के भक्तो को यह आर्टिकल “जगत चेतना हूँ अनादि अनंता लिरिक्स | Jagat Chetna Hu Anadi Ananta Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “Jagat Chetna Hu Anadi Ananta Lyrics” आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment