गुरू जम्भेश्वर भगवान की आरती भजन | Guru Jambheshwar Bhagwan Ki Aarti Lyrics

गुरू जम्भेश्वर भगवान जी की आरतीगुरू जम्भेश्वर भगवान की आरती भजन | Guru Jambheshwar Bhagwan Ki Aarti Lyrics” सुनने मात्र से होगी सभी इच्छाओ की पूर्ति करने वाली है। Guru Jambheshwar Bhagwan Ki Aarti करने से उनका आशीर्वाद सदा बना रहता है।


गुरू जम्भेश्वर भगवान की आरती भजन

गुरू जम्भेश्वर की आरती गाऊ,
हाथ जोङकर शीश निवाऊ ।

पींपासर मे जनम लिया था,
समराथल पर दरश दिया था,
अद्भुत लीला थारी, बली बली जाऊ ।

पींपासर नगरी मे आणद छायो,
नंद जी को लाल, लोहट घर आयो,
थारा युग-युग दरशण पाऊ ।

सब सखियां मिल मंगल गावे,
ऐसो अवसर फेर ना आवे,
थारा ज्योति मे दरशण पांऊ ।

सदानन्द थारी आरती उतारे,
विष्णु नाम का मंन्त्र उचारे,
थाने सुबह ओर शाम मनाऊ ।


Guru Jambheshwar Bhagwan Ki Aarti Lyrics

Guru Jambheshwar Ki Aarti Gau,
Haath Jodakar Sheesh Nivau.

Peempaasar Me Janam Liya Tha,
Samaraathal Par Darash Diya Tha,
Adbhut Leela Thaaree, Balee Balee Jau.

Peempaasar Nagaree Me Aanad Chhaayo,
Nand Jee Ko Laal, Lohat Ghar Aayo,
Thaara Yug-yug Darashan Pau.

Sab Sakhiyaan Mil Mangal Gaave,
Aiso Avasar Pher Na Aave,
Thaara Jyoti Me Darashan Paanoo.

Sadaanand Thaaree Aaratee Utaare,
Vishnu Naam Ka Manntr Uchaare,
Thaane Subah Aur Shaam Manaoo.

Guru Jambheshwar Bhagwan Ki Aarti Lyrics

हमें उम्मीद है की श्री गुरू जम्भेश्वर जी के भक्तो को यह आर्टिकल “गुरू जम्भेश्वर भगवान की आरती भजन | Guru Jambheshwar Bhagwan Ki Aarti Lyrics” + Video + Audio बहुत पसंद आया होगा।  Guru Jambheshwar Bhagwan Ki Aarti Lyrics ” के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये। आप अपनी फरमाइश भी हमे कमेंट करके बता सकते है। हम वो भजन, आरती आदि जल्द से जल्द लाने को कोशिश करेंगे।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here