गले में सर्पो की माला तन में बाघम्बर छाला भजन लिरिक्स | Gale Me Sarpo Ki Mala Shiv Bhajan Lyrics

भगवान शिव का भजन “गले में सर्पो की माला तन में बाघम्बर छाला भजन लिरिक्स | Gale Me Sarpo Ki Mala Shiv Bhajan Lyrics” संजय गिरी जी के द्वारा गाया हुआ है। भजन के लिरिक्स हिंदी और इंग्लिश में वीडियो के साथ दिए हुए है।


Gale Me Sarpo Ki Mala Shiv Bhajan Lyrics

गले में सर्पो की माला, तन में बाघम्बर छाला,
देवो में देव महान, बैठे लगा के बाबा ध्यान ।
डम डम डमरू बाजे, हाथो में त्रिशूल साजे,
पिए भोला भंग तान, करते है जग का कल्याण।।

प्राणी जो जग से हारे, आते है इनके द्वारे,
मिलता है पावन दर्शन, होते है वारे न्यारे ।
बम बम की गूंज होती, लगते बम के जयकारे,
सृष्टि के मालिक है ये, भक्तो के पालक है ये,
सबसे ऊँची है इनकी शान, करते है बाबा कल्याण।।

गंगाजल करके अर्पण, पाता जो शिव का दर्शन,
बिगड़ी किस्मत बन जाती, करते है किरपा भगवान ।
जो भी है इनको ध्याता, खुशियो से भरता जीवन,
अद्भुत है भेष इनका, जाने ये भेद दिल का,
इनकी निराली आन बान, करते है भोला कल्याण।।

श्रद्धा के पुष्प चढ़ाकर, भावो का दीपक जलाकर,
इनको खुश करलो भक्तो, सेवा की डोर बढाकर ।
चोखानी बन जा चाकर, इनकी ही लगन लगाकर,
बाबा है डमरू धारी, कहते इसको त्रिपुरारी,
शर्मा पे भोला मेहरबान, करते है भोले कल्याण।।

गले में सर्पो की माला, तन में बाघम्बर छाला,
देवो में देव महान, बैठे लगा के बाबा ध्यान ।
डम डम डमरू बाजे, हाथो में त्रिशूल साजे,
पिए भोला भंग तान, करते है जग का कल्याण ।।

Gale Me Sarpo Ki Mala Shiv Bhajan Lyrics

हमें उम्मीद है की भगवान शिव के भक्तो को यह आर्टिकल “गले में सर्पो की माला तन में बाघम्बर छाला भजन लिरिक्स | Gale Me Sarpo Ki Mala Shiv Bhajan Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “ Gale Me Sarpo Ki Mala Shiv Bhajan Lyrics ” भजन के आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here